संवाद सहयोगी, चंबा : मेडिकल कॉलेज चंबा में स्वास्थ्य सेवाएं एक बार फिर पटरी से उतरने लगी हैं। कुछ दिन पहले चिकित्सकों के ओपीडी में देरी से पहुंचने से उपजा विवाद अभी शांत ही नहीं हुआ था कि बुधवार को मेडिकल कॉलेज में ऐसे हालात फिर पैदा हो गए। महिला व पुरुष ओपीडी के बाहर मरीजों की लंबी-लंबी कतारें लगी रही लेकिन उनका स्वास्थ्य जांचने के लिए कोई चिकित्सक बैठा नहीं था। सुबह करीब दस से 12 बजे तक जब चिकित्सक ओपीडी में नहीं पहुंचे तो मरीजों व उनके तीमारदारों के सब्र का बांध टूट गया और उन्होंने कॉलेज प्रबंधन के खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी। गुस्साए लोग चिकित्सा अधीक्षक डॉ विनोद शर्मा के कक्ष में पहुंचे और उनसे ओपीडी में व्यवस्था सुधारने की शिकायत की।

कमल कुमार निवासी सलूणी ने बताया कि वह काफी दूर से स्वास्थ्य जांच के लिए आए थे लेकिन दो घंटे तक ओपीडी में कोई डॉक्टर नहीं आया। उन्होंने प्राइवेट क्लीनिक में उपचार करवाया। कॉलेज प्रबंधन को मरीजों को स्वास्थ्य सेवाएं देने के लिए बेहतर प्रबंध करने चाहिए।

मानदेई निवासी तीसा ने बताया कि वह स्वास्थ्य जांच के लिए सुबह नौ बजे अस्पताल में पहुंची थी। ओपीडी के बाहर मरीजों की लंबी कतार लगी हुई थी। भीतर कोई चिकित्सक नहीं बैठा था। थकहार कर वह अपनी बारी का इंतजार करती रही। दूसरे समय में स्वास्थ्य जांच करवाना पड़ी।

अशोक निवासी राख ने बताया कि पेट दर्द की शिकायत होने पर वह अस्पताल में इलाज के लिए पहुंचा था। दो घंटे तक ओपीडी के बाहर इंतजार करता रहा। जब कोई चिकित्सक नहीं आया तो निजी अस्पताल मे जाकर स्वास्थ्य लाभ लिया।

चमन कुमार निवासी चकलू ने बताया वह भी बीमार होने पर अस्पताल पहुंचा था लेकिन पुरुष ओपीडी में कोई चिकित्सक नहीं था। इसलिए वहां से निकल आए और निजी क्लीनिक में स्वास्थ्य जांच करवाई।

लोगों में इस बात को लेकर खासा रोष था कि डॉक्टर ओपीडी में समयानुसार बैठते ही नहीं है। इससे मरीज परेशान होते रहते हैं। तीमारदारों ने बताया कि उन्होंने मेडिकल कॉलेज चंबा में सुबह लंबी कतारों में खड़े होकर मरीजों की पर्ची बनाई। मेडिकल कॉलेज की ओपीडी में चिकित्सक न मिलने से उनको मायूस होकर लौटना पड़ा।

ओपीडी में चिकित्सक न होने की जानकारी मिलते ही तुरंत निर्देश देकर व्यवस्था ठीक करने को कहा गया है। दोपहर को शिकायत मिलने के बाद ही चिकित्सकों को मरीजों का चेकअप करने के निर्देश दिए गए। ओपीडी से गैर हाजिर रहने वाले चिकित्सकों से जवाबतलब किया गया है।

विनोद शर्मा, चिकित्सा अधीक्षक मेडिकल कॉलेज चंबा

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran