संवाद सहयोगी, चंबा : जिला मुख्यालय की सड़कों पर बढ़ रहे अतिक्रमण ने हर रोज मुख्यालय पहुंचने वाले लोगों के अलावा वाहन चालकों को आफत में डाल दिया है। सड़क के किनारे खाली जगह दिखते ही रेहड़ी लगा कर दुकान सजा रहे इन अतिक्रमणकारियों की वजह से शहर भी दिन प्रतिदिन सिकुड़ता जा रहा है, जिससे शहर से गुजरने वाले लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। गाड़ियों के अलावा जिला मुख्यालय चंबा की सड़कों पर हर रोज लोगों की भीड़ भी बढ़ रही है। ऐसे में शहर में हो रहे अतिक्रमण के चलते लोगों को पैदल चलने में भी दिक्कतें पेश आ रही हैं।

चंबा में अगर पंजीकृत रेहड़ी फड़ी वालों की बात की जाए तो नगर परिषद ने डेढ़ सौ के करीब रेहड़ी-फड़ी धारकों को लाइसेंस जारी किए हैं, लेकिन हर रोज शहर में अवैध रेहड़ी-फड़ी धारकों की संख्या बढ़ रही है जो आने जाने वालों के लिए परेशानी का कारण भी बन रहे हैं। उधर, प्रशासन एवं नगर परिषद शहर में अवैध रूप से दुकानदारी सजा रहे रेहड़ी-फड़ी धारकों पर कई बार कार्रवाई भी की है, लेकिन कार्रवाई के दो दिन बाद फिर से वही स्थिति पैदा हो रही है। शहर में अवैध कब्जाधारियों के अलावा सड़क तक दुकानदारी सजा रहे कारोबारी भी शहर में जुट रही लोगों की भीड़ के लिए समस्याएं खड़ी कर रहे हैं। सड़क तक सजी दुकानदारी की वजह से अस्पताल सहित अन्य कई तरह के आपातकालीन कार्य के लिए आ रहे लोगों को इससे समस्या हो रही है। साथ ही ये जाम का भी कारण बन रहा है। उधर, शहर में पहुंचने वाले वाहन चालकों के अलावा विभिन्न क्षेत्रों से जिला मुख्यालय पहुंच रहे लोग प्रशासन से अतिक्रमण पर लगाम लगाने की मांग कर रहे हैं, ताकि शहर में आने-जाने के लिए सड़कों तक सजी दुकानदारी समस्या न बन सके ।

शहर में बढ़ रहे अतिक्रमण को खत्म करने के लिए प्रशासन की ओर से कई बार कार्रवाई की जाती है। अतिक्रमण को रोकने के लिए हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं।

नवीन तनवर, उपमंडल अधिकारी चंबा।

नगर परिषद चंबा की ओर से शहर में फड़ी लगने वालों के लिए लाइसेंस जारी किए हैं। लाइसेंस के बिना अगर कोई शहर में मनमर्जी से फड़ी लगाता है तो उस पर कार्रवाई करने के साथ जुर्माना भी वसूला जाता है

नीलम नैयर, अध्यक्ष नगर परिषद चंबा।

Edited By: Jagran