संवाद सहयोगी, सलूणी : राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला डियूर के कंडम घोषित किए पुराने भवन के स्थान पर जल्द नया भवन बनाने की मांग को लेकर पंचायत उपप्रधान अजय कुमार की अगुआई में एसएमसी कमेटी अध्यक्ष संजय कुमार व कमेटी सदस्यों ने एसडीएम सलूणी डा. स्वाति गुप्ता को ज्ञापन दिया। स्कूल भवन के मुद्दे को दैनिक जागरण भी प्रमुखता से उठा चुका है।

मंगलवार को एसडीएम के माध्यम से राज्यपाल, मुख्यमंत्री व शिक्षा मंत्री को भेजे ज्ञापन में उन्होंने कहा कि पाठशाला के पुराने भवन को तोड़े हुए करीब एक वर्ष का समय हो गया है लेकिन अब तक नए भवन का निर्माण करना तो दूर उसकी नींव तक नहीं रखी गई है। हालात यह हैं कि जब भी बारिश होती है तो बच्चों को स्कूल से छुट्टी कर दी जाती है। इस संबंध में एसएमसी की ओर से कई बार भवन निर्माण की मांग की जा चुकी है।

उन्होंने कहा कि स्कूल में शिक्षा ग्रहण करने वाले विद्यार्थियों को खुले आसमान के नीचे कक्षाएं लगाने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है। वर्तमान समय में उक्त स्कूल में छठी से 12वीं कक्षा तक करीब 350 विद्यार्थी शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं। जब से भवन तोड़ा गया है, तब से स्कूल के पास भवन के नाम पर महज तीन कमरे ही हैं। इनमें सभी कक्षाओं के विद्यार्थियों को रखा जाना संभव नहीं है। जिस कारण बच्चों के लिए समस्या बनी हुई है। वर्ष 1960 में निर्मित हुआ भवन पुराना होने के कारण असुरक्षित हो गया था इसलिए इसमें कक्षाएं चला पाना किसी खतरे से खाली नहीं था। ऐसे में भवन को डिस्मेंटल कर दिया गया ताकि इसके स्थान पर नए भवन का निर्माण किया जा सके। नए भवन का निर्माण करने के उद्देश्य से पुराने भवन को तो गिरा दिया गया लेकिन अभी तक नया भवन विद्यार्थियों व स्टाफ को नसीब नहीं हो पाया। इस मामले मे एसडीएम सलूणी डा. स्वाति गुप्ता ने ज्ञापन को उचित कार्रवाई के लिए आगे भेजा जाएगा।

Edited By: Jagran