संवाद सहयोगी, धरवाला : सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र चूड़ी में जनरेटर मशीन धूल फांक रही है। ऐसे में बिजली गुल होने पर लोगों को जनरेटर सुविधा का लाभ नहीं मिल पाता है। बिजली गुल होने पर मरीजों को महंगे दामों पर निजी क्लीनिक में ही एक्स-रे करवाने पड़ते हैं। विडंबना यह भी है कि यदि निजी क्लीनिकों में एक्स-रे न हुए तो लोगों को 30 किलोमीटर दूर चंबा पहुंचना पड़ता है। अरसा बीत जाने के बाद भी चूड़ी में जनरेटर सुविधा का लाभ न मिलने पर लोगों में काफी रोष है। लोगों का कहना है कि सरकार व स्वास्थ्य विभाग अक्सर बेहतर सुविधा मुहैया करवाने की हामी भरते हैं, लेकिन जमीनी हकीकत कुछ और है। स्वास्थ्य केंद्र चूड़ी में रोजाना 21 से अधिक पंचायतों के लोग उपचार के लिए पहुंचते हैं। मगर, चिकित्सक द्वारा एक्स-रे करवाने का परामर्श देने पर मरीजों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है। स्थानीय निवासी रमेश कुमार, ललित, रवि कुमार, संजय, मुकेश व श्रीराम का कहना है कि सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र चूड़ी में जनरेटर न चलने पर एक्स-रे मशीन शोपीस बनकर रह जाती है। लोगों का कहना है कि एक ओर सरकार लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं देने का दम तो भरती है, लेकिन स्वास्थ्य केंद्र चूड़ी की व्यवस्था की बात की जाए तो सारे दावे खोखले साबित हो रहे हैं। लोगों ने स्वास्थ्य विभाग से मांग की है कि जल्द सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र चूड़ी में जनरेटर को ठीक करवाया जाए।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस