संवाद सहयोगी, चंबा : विकास खंड चंबा की कोलका पंचायत के जंगल में भालू ने एक महिला पर हमला कर उसे बुरी तरह लहूलुहान कर दिया। घायल को मेडिकल कॉलेज में दाखिल करवाया गया है।

शशि देवी पत्नी देशो निवासी गांव नलेड डाकघर कुपाहड़ा पंचायत कोलका सोमवार दोपहर को घर के पास जंगल में सूखी लकड़ियां लाने गई थी। इस दौरान भालू ने हमला कर दिया। उसकी टांग, सिर और बाजू में गंभीर चोटें आई हैं। घटना की सूचना मिलते ही वन विभाग के अधिकारी भी मौके पर पहुंचे। लोगों का कहना है कि भालू खाने की तलाश में पहाड़ों से निचले क्षेत्रों की तरफ आ रहे हैं। भालू इससे पूर्व कई लोगों पर हमला कर चुका है। उन्होंने प्रशासन से मांग की है कि भालू को पकड़कर दूसरे जंगल में छोड़ा जाए। भालू लोगों की फसलें भी बर्बाद कर रहे हैं।

उधर, मेडिकल कॉलेज के चिकित्सा अधीक्षक मोहन सिंह ने बताया कि भालू ने महिला की टांग व बाजू बुरी तरह से नोच दी है। उसकी हालत अब खतरे से बाहर है।

-----------------

पांच माह में 17 बार हमला कर चुके हैं भालू

जिला चंबा में जंगली जानवरों के आतंक ने लोगों का जीना दूभर कर दिया है। ऊंचाई वाले क्षेत्रों में भालुओं का आतंक है। वहीं, मध्यम ऊंचाई सहित निचले क्षेत्रों में लोग तेंदुए के खौफ के साये में जीने के लिए मजबूर हैं। पांच महीने में भालू 17 बार लोगों पर हमला कर चुके हैं। एक महिला की मौत हुई है। भरमौर की कुनेड़ पंचायत में 27 जून को खेतों में घास काट रही महिला पर भालू ने हमला कर दिया था। महिला ने मौके पर ही दम तोड़ दिया था। इसके पूर्व भरमौर की चौभिया धार में भालुओं ने गडरिये के रेवड़ पर हमला कर करीब 17 भेड़-बकरियों को शिकार बनाया था। डलहौजी की बलेरा पंचायत में भालू ने अचानक एक महिला पर हमला कर दिया था। भरमौर की चौबिया जंगल में भेड़-बकरियां चराने गए भेड़पालक को भी भालू ने हमला कर गंभीर रूप से घायल कर दिया था। जून में तेलका में तेंदुए ने एक मवेशी पर हमला किया जबकि ब्याणा पंचायत के कैला गांव में बकरी को शिकार बनाया था। भालू ने खणी में खेत में कार्य करते दो लोगों समेत डलहौजी में भी दो लोगों को घायल किया था। चुवाड़ी के जोत में भालू के हमले से एक व्यक्ति लहूलुहान हो गया था। अगस्त में भी भालू के हमले से तीन लोग घायल हुए थे।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप