जागरण संवाददाता, चंबा : सावधान! त्योहारी सीजन में ज्यादा रंगदार मिठाई आपकी खुशियों को बदरंग कर सकती है। यह मिठाई बेहद नुकसानदायक होती है। इससे लोग अनजान होते हैं। हालांकि स्वास्थ्य विभाग ने मानकों के अनुरूप मिठाई में रंगों का इस्तेमाल करने की सख्त हिदायत दी है। साथ ही जनता को भी जागरूक किया जा रहा है।

मिठाई में हल्के रंगों का इस्तेमाल किया जा सकता है। जिला चंबा में हलवाइयों ने रंगदार मिठाई तैयार करने का अभियान जोर-शोर से छेड़ा हुआ है। त्योहारी सीजन में 60 गुणा बढ़ती है मांग

त्योहारी सीजन में आम दिनों के मुकाबले मिठाई की खपत 50 से 60 गुणा तक बढ़ जाती है। मिठाई को आकर्षक बनाने के लिए जरूरत से अधिक चीनी का प्रयोग होता है व कुछ ऐसे रंग भी उनमें डाले जाते हैं जो सेहत पर उनका विपरीत प्रभाव डालते हैं। जुर्माने का प्रविधान

-खराब गुणवत्ता वाले खाद्य पदार्थो की बिक्री पर दो लाख रुपये तक

-घटिया खाद्य पदार्थ बचने पर पांच लाख रुपये तक

-गलत ब्रांड खाद्य पदार्थ बेचने पर तीन लाख रुपये तक

-भ्रामक विज्ञापन करने पर दस लाख रुपये तक

-पदार्थ में अन्य चीजों की मिलावट पर एक लाख रुपये चंबा में खोया बर्फी की मांग

जिला चंबा में हर प्रकार की मिठाई उपलब्ध है, लेकिन खोया से बनी बर्फी की काफी मांग रहती है। जनजातीय जिला होने के कारण यहां पर लोग ज्यादातर खेतीबाड़ी और पशु पालकर अपना जीवन-यापन करते हैं। इस कारण यहां खोया भी खूब बनाया जाता है। यहां पर घरों व दुकानों में लोग खोया से बर्फी बनाकर खुद भी खाते हैं और मेहमानों को भी परोसते हैं। लोग करें परहेज

मिठाई का सेवन जितना कम किया जाए उतना बेहतर है। खासकर त्योहारी सीजन में विशेष एहतियात बरतने की जरूरत है। मिठाई को आकर्षक बनाने के लिए कई केमिकल और रंगों का उपयोग किया जाता है। ऐसी मिठाई खाने से लोग एलर्जी, बुखार और पेट संबंधी कई बीमारियों का शिकार हो जाते हैं।

-डा. संजय कुमार, एमडी, मेडिकल कालेज चंबा। लोगों को रंगदार मिठाई से परहेज बरतने की सलाह दी गई है। खाद्य पदार्र्थो में मिलावट करने वालों पर नकेल कसने के लिए विभाग ने अभियान तेज कर दिया है। मिलावट करने वालों को बख्शा नहीं जाएगा। लोग रंगदार मिठाई न खाएं।

-दीपक आनंद, खाद्य सुरक्षा अधिकारी चंबा त्योहारी सीजन को देख खाद्य सुरक्षा अधिकारियों को विशेष निर्देश दिए गए हैं। हालांकि स्टाफ की कमी है, बावजूद इसके कोशिश की जाती है कि विक्रेता ग्राहकों की सेहत के साथ खिलवाड़ न कर सकें।

-डा. कपिल शर्मा, मुख्य चिकित्सा अधिकारी, चंबा

Edited By: Jagran