संवाद सहयोगी, डलहौजी : उपतहसील भलेई के तहत आने वाली ग्राम पंचायत सिमनी के गांव खजूरा में शनिवार देर शाम को जंगल की आग से 11 पशुशाला राख हो गई व 15 मवेशी जिंदा जल गए। छह स्टोर भी पूरी तरह से जल गए जिनमें इमारती लकड़ी व पशुओं का चारा रखा हुआ था।

खजूरा गांव के जंगल में आग लगी हुई थी जो फैल गई। गांव के एक किनारे पर स्थानीय लोगों द्वारा बनाई गई पशुशालाएं इसकी चपेट में आ गई। हादसे के दौरान मवेशी पशुशालाओं के अंदर बंधे हुए थे। स्थानीय लोगों ने अग्निकांड की सूचना प्रशासन को दी और खुद भी आग बुझाने का प्रयास करने लगे। नायब तहसीलदार भलेई दुनी चंद राणा ने दमकल चौकी सलूणी व एनएचपीसी चमेरा पावर स्टेशन-एक खैरी से संपर्क कर दमकल वाहनों को मौका पर बुलया। कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पा लिया गया मगर छह पशुशालाओं में बंधे 15 मवेशियों को नहीं बचा पाए। इसके अलावा छह स्टोर में रखी इमारती लकड़ी व घास भी आग की भेंट चढ़ गए।

---------

यह हुआ नुकसान

खजूरा गांव में अग्निकांड में 11 पशुशालाएं जल गई और छह पशुशालाओं में बंधी तीन भैंसें, सात गायें, एक बैल, दो बकरों व दो भेड़ों की जिंदा जलने मौत हो गई।

--------------------

प्रभावित 11 परिवारों को प्रशासन की और से 70 हजार रुपये की आर्थिक मदद दी गई है। यह हादसा जंगल में लगी आग से हुआ है। प्रभावितों को करीब 6.40 लाख का नुकसान हुआ है।

-दुनी चंद राणा, नायब तहसीलदार भलेई।

Edited By: Jagran