संवाद सहयोगी, बिलासपुर : प्रशासन में दक्षता लाने के लिए सोमवार को कार्यकारी उपायुक्त विनय धीमान ने विभिन्न विभागों के अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की। बैठक में उन्होंने जिला में जैविक खेती को बढ़ावा देने के लिए कृषि विभाग भूमि को ऐसे क्षेत्र का चयन करने के निर्देश दिए जिसमें किसान जैविक खाद का प्रयोग करने में रूचि दिखाएं। उन्होंने कहा कि मशरूम, हल्दी के साथ-साथ अदरक उत्पादन के लिए भी संभावनाएं तलाशें और किसानों को इसका उत्पादन करने के प्रेरित करें। जिला को हरा-भरा रखने और पर्यावरण संरक्षण के लिए चलाए जा रहे पौधारोपण अभियान के तहत हरड़, बेहड़ा, आंवला और खैर के लगभग 63 हजार पौधे लगाए जाने का प्रावधान रखा गया है। उन्होंने सभी सरकारी, गैर सरकारी, स्वयं सेवी संस्थाओं, महिला मंडलों, युवक मंडलों, स्कूली बच्चों तथा आमजन से आह्वान किया कि प्रकृति के इस महायज्ञ में अधिक से अधिक पौधारोपण करके अपनी बहूमूल्य सहभागिता सुनिश्चित करें।

उन्होंने स्वास्थ्य विभाग को निर्देश दिए कि बरसात में जलजनित तथा डेंगू के रोगों से बचने के लिए नगर परिषद और नगर पंचायतों में फोगिग करवाना सुनिश्चित बनाएं और प्रचार-प्रसार के माध्यम से लोगों में जागरूकता का संदेश भी प्रचारित करें। उन्होंने सिचाई एवं जन स्वास्थ्य विभाग को जल भंडारण केन्द्रों तथा प्राकृतिक स्त्रोतों में क्लोरीनेशन तथा साफ-सफाई करना सुनिश्चित करने के निर्देश भी जारी किए।

बैठक में घुमारवीं केंद्रीय विद्यालय, फोरलेन, असुरक्षित भवन, कॉऊ सेंक्युचरी, प्रदूषण सेंटर, रेलवे, व्यास प्योर, एम्स, स्वीमिग पुल तथा विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की गई।

इस अवसर पर एसडीएम नरेंद्र कुमार, सीएमओ डॉ. प्रकाश दरोच, आरटीओ एसके पराशर, डीआरओ देवी राम के अतिरिक्त विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस