संवाद सहयोगी, कंदरौर : कंदरौर व आसपास के क्षेत्र के लोगों को पिछले कई दिन से पेयजल संकट से जूझना पड़ रहा है। इस कारण लोगों को पेयजल के लिए इधर उधर दौड़ लगानी पड़ रही है। लोगों का अधिकांश समय पानी का प्रबंध करने में ही व्यतीत हो रहा है।

ग्रामीणों पवन, मंदीप, गीताराम, संजय कुमार, हरनाम ¨सह, सुखदेव, गोरखिया, रामू राम का कहना है कि कंदरौर व आसपास के इलाकों को पानी उपलब्ध करवाने का एकमात्र सरियाली खड्ड है। जब भी भारी बारिश होती है तो इस खड्ड का जल स्तर बढ़ जाता है और इस खड्ड से जिन सभी गांवों को पानी जाता है, उनकी सप्लाई बंद हो जाती। इससे यहां के लोगों को बावड़ियों या हैंडपंप पर आश्रित रहना पड़ता है। जिन गांवों मे अभी तक हैंडपंप नहीं है, उन गांवों के लोग कई किलोमीटर से पानी लाने को मजबूर हो जाते है। ऐसा नहीं है कि ये समस्या केवल एक बार आई है बल्कि जब भी बारिश होती है तो पानी की सप्लाई बंद हो जाती है। इस खड्ड से नोग, दली, कंदरौर, निचली भटेड, बग्गाड़, चलामा, ठठल, कंदरौर धार, बेंदला, चकली, लुहनु कनेता, बलड़ा, कंदरौर पुल, साहड़ आदि कई गांवों को पेयजल किल्लत से जूझना पड़ता है। ग्रामीणों का कहना है कि विभाग को बार बार समस्या से अवगत करवाने के बावजूद समस्या का स्थायी हल नहीं हो पा रहा है। विभागीय अधिकारियों को लोगों की समस्या को देखते हुए शीघ्र ही समस्या का समाधान करना चाहिए।

उधर, आइपीएच विभाग के एसडीओ राकेश का कहना है की जल्दी ही इस समस्या का समाधान किया जाएगा। दली पेयजल योजना की गेलरी की सफाई की गई थी। कुछ दिनों पहले बारिश के कारण गेलरी गाद से भर गई थी, जिसकी सफाई की गई है और शीघ्र ही जनता को पानी की आपूर्ति की जाएगी।

Posted By: Jagran