संवाद सहयोगी, कोठीपुरा : जवाहर नवोदय स्कूल में डॉक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन का जन्मदिन बड़े ही धूमधाम के साथ मनाया गया। कार्यक्रम में प्रधानाचार्य एसके भट्ट तथा उपप्रधानाचार्य दिव्या ज्योति ने बतौर मुख्यातिथि शिरकत की। इस अवसर पर सीनियर छात्रों ने अध्यापक बनकर जूनियर को पढ़ाया। इस अवसर पर बच्चों द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम भी पेश किए। स्कूल के विद्यार्थियों ने अध्यापकों को बैच लगाकर व उपहार देकर सम्मानित किया। छात्र भूपेंद्र को श्रेष्ठ शिक्षक का सम्मान देकर सम्मानित किया।

प्रधानाचार्य एसके भट्ट ने कहा की छात्र और शिक्षक का संबंध बहुत ही पवित्र रिश्ता होता है। गुरु अपने विद्यार्थियों को न केवल शिक्षा प्रदान करता है बल्कि विद्यार्थियों को अच्छे और बुरे का भी ज्ञान प्रदान करता है। विद्यार्थियों को शिक्षकों का सम्मान तथा उनकी आज्ञा का पालन करना चाहिए। शिक्षक केवल विद्यार्थियों के भले के लिए ही कार्य करता है। शिक्षक का कर्तव्य बनता है कि वह विद्यार्थियों को केवल पुस्तकों का ही ज्ञान न दें बल्कि उनको भविष्य में आने वाली चुनौतियों और उनका मुकाबला करने की प्रेरणा भी दें। इस अवसर पर अध्यापक वर्ग की ओर से अशोक जंबाल, असीम नेगी, नंदिनी, दिलीप ¨सह, पूर्णिमा भट्ट, नितिन सक्सेना, अनिल, राजीव, रीना, शांता, किरण, राजेंद्र सरेरा, अमित कालिया, अतुल, सरिता, र¨वदर कौर और अनुराधा उपस्थित रहे।

Posted By: Jagran