संवाद सहयोगी, घुमारवीं : पौधे लगाना बड़ी बात नहीं है सबसे बड़ी बात है उसकी देखभाल करना है। यदि पौधे की देखभाल सही ढंग से नहीं होगी तो वह कभी पेड़ नहीं बन सकता है। डॉ. वाइएस परमार बागवानी एंव वानिकी विश्वविद्यालय नौणी के पूर्व उपकुलपति केआर धीमान ने घुमारवीं विधानसभा क्षेत्र के तहत बाह गांव में संस्कार सोसायटी के पौधारोपण अभियान के दौरान कही। उन्होंने कहा कि एक पेड़ सौ पुत्र के समान है। पेड़ों के बिना धरती पर जीवन की कल्पना करना असंभव है। पेड़ धरती पर अमूल्य संपदा के समान है। पेड़ों के कारण ही मनुष्य को अपनी आधारभूत आवश्यकताओं को पूरा करने के संसाधन प्राप्त होते हैं।

उन्होंने कहा कि संस्था के संस्थापक महेंद्र धर्माणी ने इस संस्था को चलाकर बड़ा सामाजिक कार्य किया है। इस मौके पर संस्था ने ज्यादातर औषधीय व फलदार पौधे लगाए। इसमें अंबाला के 30, बेहड़ा के 10, इमली के 10, बिल के 20, जामुन, कचनार के 50, कनक चम्पा के 30, गुलमोहर के 10, सम्मी के 10 आदि के पौधे रोपे। इस मौके पर सभी उपस्थित ग्रामीणों को पौधे बांटे गए। इस मौके पर ग्रामीणों में नंद लाल शर्मा, बीडीसी सदस्य मनीष, प्रधान जोरावर सिंह, पूर्व उपप्रधान दांदू राम, बलबीर चौहान, सोहन लाल संख्यान, लेख राम, बृज लाल शर्मा, जेके शर्मा, ओपी शर्मा सहित संस्था के महासचिव राजेंद्र, संस्था के सदस्यों में महासचिव राजेंद्र चंदेल, उपाध्यक्ष संदीप धर्माणी, अनिल धर्माणी, डॉ. तिलकराज, डॉ. पुष्पराज, सुनील चंदेल, कुलदीप डोगरा, राजेश शामा, रितेश, रामस्वरूप शामा, शशि शर्मा, सुरेंद्र धर्माणी, कुंदन रत्न व युवा तथा महिलायें उपस्थित रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस