संवाद सहयोगी, भराड़ी : राजकीय प्राथमिक शिक्षक संघ जिला बिलासपुर की बैठक जिला प्रधान रमेश शर्मा की अध्यक्षता में वीडियो कांफ्रेंस से हुई। इसमें जिला मुख्य संरक्षक रंजीत ठाकुर, महासचिव सुनील शर्मा, वरिष्ठ उप प्रधान जोगिदर लाल, उपप्रधान जोगिदर पाल, कोषाध्यक्ष सुशील कुमार, सचिव नरेश शर्मा, महालेखाकार बलवीर ठाकुर, मुख्य सलाहकार अमरनाथ शर्मा, प्रेस सचिव सतपाल ठाकुर तथा पांचों शिक्षा खंडों के प्रधान होशियार सिंह, बसंत ठाकुर, कश्मीर सिंह, अनिल शर्मा तथा नरेश राणा उपस्थित रहे।

जिला मीडिया प्रभारी खूब सिंह ठाकुर ने बताया कि बैठक में पंजाब सरकार की ओर से छठे वेतन आयोग की सिफारिशों को जुलाई 2021 से लागू किए जाने पर चर्चा की गई। वेतनमान आवंटित करते समय कर्मचारियों को तीन वर्गो में बांटे जाने का कड़ा विरोध किया तथा इस प्रक्रिया को तुरंत वापस कर नियुक्ति की तिथि को आधार बनाकर किए गए विभाजन के स्थान पर केवल कर्मचारी वर्गो के लिए एक समान वेतनमान आवंटित करने की मांग की। पंजाब सरकार ने दिसंबर 2015 तक नियुक्त कर्मचारियों के लिए अलग वेतनमान तथा 16 जुलाई 2020 तक नियुक्त कर्मचारियों के लिए अलग वेतनमान व उसके उपरांत नियुक्त कर्मचारियों के लिए अलग वेतनमान आवंटित किए हैं, जो पूर्ण रूप से गलत और बांटने वाले हैं। पंजाब सरकार इन गलत और विभाजनकारी प्रविधानों को तुरंत वापस ले अन्यथा हिमाचल प्रदेश के कर्मचारी संगठन पंजाब राज्य के कर्मचारी संगठनों से मिलकर संघर्ष के लिए बाध्य होंगे। अधिसूचना में दर्शाया गया है कि जिन कर्मचारी वर्गो को 2011 में पांचवें वेतन आयोग की सिफारिशों के अनुसार वेतनमान मिला हैं उनके वेतनमान निर्धारित करते समय किसी भी प्रकार का कटौती फार्मूला नहीं लगेगा। वहीं दूसरी ओर वित्त विभाग ने 2011 में संशोधित वेतनमान पाने वाले सभी कर्मचारी वर्गो के लिए 2.25 गुना बढ़ोतरी का कटौती फार्मूला लगाने के आदेश जारी किए हैं, जो सही नहीं है। बैठक में राष्ट्रीय पार्षद बांके बिहारी चंदेल, प्रदेश सचिव राकेश पटियाल, उपप्रधान रमेश शर्मा, मुख्य सलाहकार सीमा रानी, सचिव रामस्वरूप संगठन, सचिव राकेश धीमान, यशवंत ठाकुर, जोगिदर सिंह ,कार्यालय सचिव राजीव शांडिल उपस्थित रहे।

Edited By: Jagran