संवाद सहयोगी, बिलासपुर : नलवाड़ी मेले को यादगार बनाने के लिए प्रशासन की ओर से हरसंभव प्रयास किए जा रहे हैं ताकि आगामी कई वर्षो तक मेले की स्मृतियां लोगों के हृदय पटल पर बनी रहें। यह बात उपायुक्त राजेश्वर गोयल ने नलवाड़ी मेले के सफल आयोजन के लिए किए जाने वाले विशेष प्रबंधों के बारे में बुलाई गई समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए कही।

उन्होंने कहा कि इस बार मेला समिति द्वारा हर वर्ग, हर आयु के लोगों की रूचि के अनुसार मेले के दौरान विभिन्न आयोजनों को अमलीजामा पहनाया जाएगा। मेले में लोगों के मनोरंजन के लिए इस वर्ष मेहंदी, रंगोली, लेपन, फेंसी ड्रेस, हेल्दी बेबी शो, अंताक्षरी इत्यादि को भी विशेष रूप से शामिल किया जा रहा है।

इसके अतिरिक्त पुरानी भूली बिसरी खेलें जिसमें पिठू व स्टापू इत्यादि खेलें भी प्रस्तावित की गई हैं। उन्होंने कहा कि खेल प्रेमियों के लिए कुश्तियां (महिला व पुरुष), कबड्डी, हैंडबॉल, हॉकी, तंबोला, बुशु, मलखम तथा महिला मंडलों तथा स्वयं सहायता समूहों के मध्य रस्साकसी विशेष रूप से आकर्षण का केंद्र रहेंगी। मेले के दौरान कुश्ती व रात्रि सांस्कृतिक कार्यक्रमों का लुत्फ लेने के लिए बुजुर्गो व महिलाओं के बैठने के लिए विशेष दीर्घा बनाई जाएगी। मेले में सुरक्षा व्यवस्था को चाक चौबंद बनाए रखने के लिए योजनाबद्ध तरीके से सुरक्षाकर्मियों की तैनाती की जाएगी तथा कानून व्यवस्था को बनाए रखने के लिए मेला स्थल को सेक्टरों में विभाजित किया जाएगा।

मेला में आने वाले लोगों को मेलास्थल तक जाने के लिए बेहतर यातायात सुविधा दी जाएगी। मेले के शुभारंभ पर 17 मार्च को भव्य शोभायात्रा निकाली जाएगी जिसमें पारंपरिक वाद्ययंत्र, गतका दल, महिला मंडल, स्वयं सहायता समूहों इत्यादि के अतिरिक्त शहर के सभी गणमान्य व्यक्ति अपनी उपस्थिति से इसकी गरिमा को बढ़ाएंगे।

इस मौके पर पशु मेला, विभागीय प्रदर्शनियां, स्मारिका, स्वच्छता, स्टॉल, डोम, झूलों के अतिरिक्त अन्य कार्यक्रमो के बारे में भी चर्चा की गई। इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक दिवाकर शर्मा, एडीएम विनय धीमान, एएसपी भागमल, एसडीएम रामेश्वर, सहायक आयुक्त सिद्धार्थ आचार्य के अतिरिक्त सभी विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस