संवाद सहयोगी, भराड़ी/बरठीं : उपमंडल घुमारवीं की ग्राम पंचायत गाहर के तहत केट गांव के समीप बुधवार शाम एक मृत मादा सांभर मिलने से आशंकाओं का बाजार गर्म है। केट गांव निवासी सेवानिवृत्त अध्यापक सरस्वती प्रसाद ने मृत सांभर मिलने की जानकारी वन विभाग व पुलिस को दी। सूचना मिलते ही टीमें मौके पर पहुंच गई तथा मृत सांभर को भराड़ी ले जाया गया। वन विभाग ने पहले इसका पोस्टमार्टम करवाया, बाद में जेबीसी से गड्ढा खुदवाकर इसे दफना दिया।

सरस्वती प्रसाद ने बताया कि वह शाम को घूमते हुए जा रहे थे कि उन्हें रास्ते में 60 से 70 मीटर तक खून गिरा हुआ दिखाई दिया। उन्हें लगा कि शायद तेंदुए ने किसी जानवर का शिकार किया हो क्योंकि इस क्षेत्र में आए दिन तेंदुआ देखा जाता है। उन्होंने जब देखा तो एक मादा सांभर नीचे नाले के पास मरी पड़ी थी। उन्होंने बताया कि ठीक उसी दिशा में बिल्कुल एक छोटा सांभर का बच्चा दौड़ता हुआ भी दिखाई दिया। उन्होंने इस मरे हुए मादा सांभर के शिकार की आशंका जताई है। उन्होंने बताया कि उन्हें लगता है कि शायद कोई उक्त मृत मादा सांभर को वहां से ले जाने की फिराक में था। क्योंकि उसकी टांगों पर लाल रंग का कपड़ा जैसा भी था।

वन परिक्षेत्र अधिकारी आफिसर देशराज ठाकुर के साथ वन खंड अधिकारी राकेश चौधरी व वनरक्षक ने बताया कि सांभर के मरने का वास्तविक कारण पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आने के बाद ही चल पाएगा।

उधर, मौके पर पहुंचे एएसआइ संजय ने बताया कि सूचना मिलते ही वे मौके पर पहुंच गए थे। छानबीन जारी है।

Edited By: Jagran