संवाद सहयोगी, झंडूता : उपमंडल झंडूता के बस स्टैंड पर बने शौचालय के पिछले छह महीने से बंद पड़े रहने के कारण लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। शौचालयों के निर्माण के बाद इन्हें कई बार बंद कर दिया गया। विभाग द्वारा शौचालय के निर्माण के लिए लगभग छह लाख रुपये खर्च किए गए हैं। लेकिन इसके बावजूद भी लोगों को खुले में शौच करने के लिए विवश होना पड़ रहा है। एक तरफ जहां खंड में सफाई अभियान पर काफी राशि खर्च की जा रही है। वहीं इन शौचालयों को आम जनता के लिए खुलवाने का प्रयास नहीं किया जा रहा है। बस स्टैंड के नजदीक बने शौचालय के चारों ओर गंदगी फैल रही है। जिसके कारण बीमारियों के फैलने का खतरा मंडरा रहा है। शौचालयों का प्रयोग दिन में हजारों लोग करते थे जिन की सफाई के लिए व्यापार मंडल ने एक व्यक्ति को व्यापार मंडल के खर्चे पर रखा हुआ था। लेकिन काफी समय से बंद पड़े इन शौचालयों की वजह से लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। शौचालयों के बंद होने का मुख्य कारण शौचालय के गड्ढों को नीचे से पक्का करना बताया रहा है।

इस संबध में खंड विकास अधिकारी रोशन लाल ने बताया कि शौचालयों के बंद होने के बारे में जानकारी मिली है। इसके लिए तुरंत जांच की जाएगी । शौचालय जल्द से जल्द खुलवाएं जाएंगे ।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप