संवाद सहयोगी, झंडूता : आशा कार्यकर्ता संघ जिला बिलासपुर की जिला प्रधान वीना धीमान की अध्यक्षता में खंड झंडूता की आशा कार्यकर्ताओं के अधिवेशन का आयोजन किया गया। इसमें भारतीय मजदूर संघ के खंड झंडूता के प्रधान दिलवाग सिंह व महासचिव सतपाल वर्मा, स्वास्थ्य शिक्षक खंड झंडूता रमेश चंदेल, अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ घुमारवीं के प्रधान सुरेश चंदेल, उपप्रधान संजीव शर्मा बहुउद्देशीय स्वास्थ्य कर्मचारी महासंघ के जिला प्रधान कुलदीप जम्वाल विशेष रूप से उपस्थित रहे।

अधिवेशन में जिला प्रधान ने केंद्र सरकार द्वारा आशा कार्यकर्ताओं के कम किए इनसेंटिव पर रोष प्रकट किया। जिला प्रधान वीना धीमान ने बताया कि सरकार की अधिसूचना में गर्भवती महिला की जांच और प्रसव का इनसेंटिव मात्र बीपीएल महिला का रखा गया और बाकि गर्भवती महिला की जांच और प्रसव का इनसेंटिव खत्म कर दिया। गर्भवती महिला के पंजीकरण, टीकाकरण और प्रसव पूर्व जांच के 300 रुपये गर्भवती महिला को अस्पताल में प्रसव करवाने के लिए प्रेरित करने और उसको अस्पताल तक साथ ले जाने के 300 रुपये का इनसेंटिव मिलता था उसे बंद कर दिया गया। साथ में टीकाकरण में बच्चों और गर्भवती महिलाओं की सूची बनाने और टीकाकरण के लिए प्रेरित करके कैंप में ले जाने के लिए 100 रुपये मिलता था उसे भी बंद कर दिया गया और प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान में गर्भवती महिलाओं को हॉस्पिटल तक प्रेरित करके ले जाने के लिए हर गर्भवती का 150 रुपये मिलता था उसे बंद करके हर कैंप का मात्र 100 रुपये कर दिया है। नई अधिसूचना से आशा कार्यकर्ताओं को प्रति माह लगभग 1500 रुपये का नुकसान हो रहा है। जल्द भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा से मिलकर समस्या अवगत करवाएंगे।

भारतीय मजदूर संघ खंड झंडूता के प्रधान दिलबाग जम्वाल ने कहा कि समस्याओं के समाधान का प्रयास किया जाएगा। बैठक में जिला महासचिव रोशनी देवी, बरिष्ठ उपप्रधान उर्मिला देवी, उपप्रधान सुषमा देवी, संगठन सचिव संजु देवी, प्रेस सचिव राखी देवी, संगठन सचिव डोलमा, खंड घुमारवीं की मुख्य सलाहकार किरण ठाकुर, संगठन सचिव सुनीता देवी, रीता वंसल और प्रैस सचिव रेखा देवी उपस्थित थी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप