मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

आक्रोश

स्थायी नियुक्ति न देने पर निकाला गुबार

जल्द पॉलिसी नहीं बनी तो करेंगे धरना-प्रदर्शन

संवाद सहयोगी, स्वारघाट : हिमाचल प्रदेश प्रशासनिक ट्रिब्यूनल के 18 अप्रैल 2018 को दिए निर्णयानुसार आबकारी एवं कराधान विभाग के विभिन्न बैरियर में तैनात डाटा ऑपरेटरों के लिए पॉलिसी बनाकर स्थाई नियुक्ति नहीं देने पर डाटा ऑपरेटरों ने सरकार और विभाग के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। ऑल हिमाचल बैरियर कंप्यूटर ऑपरेटर यूनियन ने सरकार को दो टूक कहा कि अगर कोड ऑफ कंडक्ट से पहले डाटा ऑपरेटरों के लिए पॉलिसी बनाकर स्थाई नियुक्ति नहीं दी गई तो सभी कंप्यूटर ऑपरेटर सरकार व विभाग के खिलाफ धरना प्रदर्शन करेंगे, जिसकी जिम्मेवारी सरकार और विभाग की होगी। यूनियन स्वारघाट के प्रधान राजकुमार ठाकुर, सदस्यों अर्जुन ठाकुर, कृष्ण ठाकुर, सुरेश शर्मा, प्रकाश चंद, सुरेश कुमार, राजेश कुमार आदि ने बताया कि पिछले एक साल से प्रदेश सरकार प्रशासनिक ट्रिब्यूनल के फैसले को लागू नहीं कर रही है। यूनियन के प्रधान राजकुमार ठाकुर ने बताया कि पॉलिसी बनाने और स्थाई नियुक्ति देने बार यूनियन के पदाधिकारियों ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा और जिला बिलासपुर के कोठीपुरा में एम्स का शिलान्यास करने आए मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर को मांगों से संबंधित ज्ञापन सौंपा था। कंप्यूटर ऑपरेटर के लिए सरकार की ओर से कोई पॉलिसी नहीं बनाई गई है, जिससे कंप्यूटर ऑपरेटर मानसिक रूप से प्रताड़ित हो रहे है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप