संवाद सहयोगी, कंदरौर : हिमाचल प्रदेश राज्य एड्स नियंत्रण समिति शिमला की ओर से संचालित परियोजना लक्षित हस्तक्षेप परियोजना बिलासपुर ने सलनु खंगड़ में वीरवार को एक बैठक की। बैठक में परियोजना सदस्यों ने उपस्थित महिलाओं को एचआइवी (एड्स) के बारे मे जानकारी प्रदान करते हुए कहा कि एड्स के फैलने के चार कारण हैं जिनमें असुरक्षित यौन संबंध से, संक्रंमित सुईयों के इस्तेमाल से, संक्रंमित रक्त के चढ़ाने से, संक्रंमित गर्भवती मां से उसके होने वाले बच्चे को शामिल हैं। इन कारणों से बचाव अपनाकर एचआईवी से बचा जा सकता है। एचआइवी का कोई भी इलाज नहीं है। बैठक में परियोजना से राजेश शर्मा, अमिता ठाकुर तथा रीमा देवी उपस्थित रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस