संवाद सहयोगी, डंगार : चंदन षष्ठी के व्रत से जुड़ी हुई परंपराओं के तहत खड्ड में अपने दोस्तों, परिवार तथा रिश्तेदारों के साथ नहाने के लिए गया 17 वर्षीय एक युवक की डूबकर मौत हो गई। अपनी दादी, इलाके की कुछ महिलाओं व दोस्तों के साथ गए इस युवक ने जैसे ही माक्खन खड्ड में गहरे पानी में उतरने की कोशिश की तो वह डूब गया। काफी देर तक पानी में जाने के बाद जब वह बाहर नहीं आया तो दोस्तों व महिलाओं ने शोर मचाया। आसपास के क्षेत्रों से लोग मौके पर आए इन्होंने पानी में गहरे उतरकर युवक को बाहर निकाला लेकिन तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। पुलिस ने मौके पर शव को कब्जे में ले लिया है तथा जांच जारी है।

पुलिस सूत्रों ने बताया कि रोपड़ी इलाके के गांव रिडा निवासी सचिन शर्मा शिवा इंजीनिय¨रग कॉलेज चांदपुर में बीटेक कर रहा था। उसके पिता बनवारी लाल उर्फ विनय कुमार दिल्ली में किसी निजी कंपनी में नौकरी करते हैं। उसके परिवार में उसके दादी आदि ने चंदन षष्ठी का व्रत किया हुआ था। इसी व्रत में शामिल खड्ड के किनारे पर जाकर स्नान करने की परंपरा को निभाने के लिए दादी अन्य महिलाओं के साथ मिलकर माखन खड्ड की ओर चली गईं। जबकि पोता सचिन भी दोस्तों के साथ खड्ड की ओर चला गया। वहां वह काफी देर तक आसपास अपने मित्रों के साथ व्रत से जुडी हुई परंपराओं को निहारने के बाद जैसे ही वह थोड़ी दूर निकलकर कीचड़ सने हुए पानी में उतरा तो अचानक नीचे डूब गया।

सचिन के पिता को भी खबर दे दी गई है। उसकी दो बहनें शिल्पा व नेहा हैं। दोनों उससे बड़ी हैं। सचिन की मौत से पूरा इलाका शोक में डूब गया है।

पुलिस के अनुसार सचिन के शव का पोस्टमार्टम अब रविवार को करवाया जाएगा। एसएचओ राकेश चंद ने बताया कि उन्होंने वक्त पर शव को बाहर निकालने के बाद अपने कब्जे में ले लिया था लेकिन बच्चे के रिश्तेदारों ने उन्हें बताया कि उन्होंने मां को इस बारे में नहीं बताया है। दूसरा कारण यह भी कि पिता ने दिल्ली से पुलिस को कहा है कि उसके आने तक पोस्स्टमार्टम नहीं करवाया जाए। माना जा रहा है कि पिता देर रात तक घर पहुंच जाएगा।

Posted By: Jagran