रजनीश महाजन, बिलासपुर

स्कूलों में अध्यापकों की उपस्थिति को सुनिश्चित करने के लिए शिक्षा विभाग द्वारा उठाए गए कदम कारगर साबित नहीं हो रहे हैं। हालात यह हैं बिलासपुर जिला के 108 सीनियर सेकेंडरी स्कूलों में से केवल 37 स्कूलों में बायोमीट्रिक मशीनें स्थापित हो पाई हैं। इनमें से केवल नौ स्कूलों में इन मशीनों से हाजिरी लग रही है। शेष 28 स्कूलों में लगाई गई मशीनें बंद पड़ी हैं। ऐसे में अध्यापकों को रजिस्ट्रर पर ही हाजिरी लगानी पड़ रही है। सूत्रों की मानें तो कंपनी द्वारा लगाई ये मशीनें या तो कोड एरर बता रही हैं या फिर निरंतर स्केनिंग कर रही हैं।

-------------------

यहां पर लगी हैं मशीनें

मालूम हो बिलासपुर के शिक्षा उपनिदेशक कार्यालय, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला झंडूता, स्वारघाट, कन्या स्कूल बिलासपुर, छात्र स्कूल बिलासपुर, कन्या स्कूल घुमारवीं, छात्र स्कूल घुमारवीं, कुठेड़ा, समोह, बरठीं, कलोल, डंगार, दसलेहड़ा, तनबोल, डमेहर, भाखड़ा, गेहड़वीं, तलाई, सलाओं, रानीकोटला, माकड़ी, स्वाहण, भराड़ी, दधोल, दियोथ, रघुनाथपुरा, नम्होल, जुखाला, मोर¨सघी, मरहाणा, कोठीपुरा, कंदरौर, हटवाड़, घाघस, चांदपुर, जकाखाना, सोल्धा में ये मशीनें स्थापित की गई हैं।

------------------

केवल यहां पर काम कर रही हैं मशीनें

इनमें से केवल राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला कुठेड़ा, समोह, बरठीं, कलोल, डंगार, दसलेहड़ा, तनबोल, डमेहर तथा जुखाला में ही मशीनें काम कर रही हैं। शेष स्थानों पार यह एरर 790, स्केनिंग फार वेरीफिकेशन, कोड एरर 720, एरर ऑफ स्के¨नग, डिवाइस इज नॉट रेडी, नेटवर्क प्रॉब्लम, नॉट स्विच ऑन आदि एरर दिखा रही हैं।

---------------------

समस्या का समाधान नहीं

प्रधानमंत्री भले ही देश को ऑनलाइन करने की बात कर रहे हों लेकिन कंपनी द्वारा दी जा रही सर्विस के कारण अध्यापकों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। हालांकि शिक्षा विभाग के अधिकारियों द्वारा हाईकमान को समस्या के बारे में बताया जा चुका है लेकिन समाधान अब तक नहीं हुआ है।

-----------------------

स्कूलों में बायोमीट्रिक मशीनों से हाजिरी न लगने की शिकायतें आ रही थीं। मशीनों की जांच करने पर यह बात सामने आई है कि कंपनी की नेटवर्किंग सही न होने के कारण यह समस्या आई है। इस बारे में अधिकारियों को सूचित कर दिया है। जल्द ही समस्या का समाधान हो जाएगा।

अमर ¨सह ठाकुर, उपनिदेशक, शिक्षा विभाग

Posted By: Jagran