जागरण टीम, डंगार/बम्म/बिलासपुर : जिला के संपर्क मार्गो की हालत बहुत ही खस्ताहाल है। कोई भी संपर्क सड़क ऐसी नहीं है जहां पर गड्ढे न बने हुए हों और लोगों को परेशानी का सामना न करना पड़ रहा हो। लोग कई बार लोक निर्माण विभाग से इन संपर्क सड़कों की हालत को सुधारने की बात कर चुके हैं लेकिन अभी तक कोई कदम नहीं उठाए गए हैं। समस्या का समाधान न होने से लोगों व वाहन चालकों में रोष व्याप्त है। सड़कों की खस्ताहालत के कारण वाहन चालकों को भी नुकसान उठाना पड़ रहा है।

--------------------------

लक्की वर्मा का कहना है कि पिछले दिनों लगातार बारिश से पहले से जर्जर हो चुकीं सड़कें और बदहाल हो गई हैं। जगह-जगह गड्ढे बन गए हैं। लोगों को पैदल चलना भी मुश्किल हो गया है।

--------------------------

जो¨गद्र पाल शर्मा का कहना है कि खस्ताहाल हो चुके संपर्क मार्गो की हालत सुधारने की दिशा में कोई भी प्रयास नहीं किए जा रहे हैं। इससे लोगों में रोष पनपने लगा है।

--------------

टैक्सी चालक जगदीश चंद सड़कों की हालत इतनी दयनीय है कि गड्ढों में गाड़ियों की हालत भी खट्टारा होती जा रही है। गाड़ियों को नुकसान पहुंचने से उनका काम प्रभावित होने लगा है।

----------------------

अंकित कश्यप का कहना है कि सड़को कि हालत इतनी दयनीय है कि पैदल चलना भी मुश्किल हो गया है। पैदल चलते हुए अचानक उनका पैर पत्थर पर फिसल गया। इस वजह से वह चोटिल हुए।

-------------------------

कृष्ण ठाकुर का कहना है कि बिलासपुर जिला के सभी संपर्क मार्गो की हालत खराब है। विभाग इनकी सुध लेने के लिए कोई कदम नहीं उठा रहा है। समस्या का जल्द समाधान होना चाहिए।

--------------------------

राधे चंदेल का कहना है कि मरम्मत कार्य सही समय पर न होने से संपर्क मार्गो की हालत और भी दयनीय हो गई हैकरने की वजह से अधिक खराब हुई है। इसलिए मरम्मत कार्य समय पर होना चाहिए ताकि लोगों को राहत मिले।

--------------------

¨रकू राणा का कहना है कि क्षेत्र की सड़कों की हालत काफी खस्ता है। लोगों को वाहन चलाना तो दूर की बात है पैदल चलना भी मुश्किल हो गया है। बार-बार सड़कों की दशा को सुधारने के लिए विभाग से गुजारिश कर चुके हैं लेकिन अभी तक इनकी नींद नहीं टूटी है।

---------------------

र¨वद्र कुमार का कहना है कि कोई भी ऐसी सड़क नहीं है जहां गड्ढे न पड़े हों। चारों तरफ सड़कों की हालत बिगड़ चुकी है। सबसे अधिक परेशानी राहगीरों को उठानी पड़ रही है।

------------------------

शशिकांत का कहना है कि बरसात में सबसे अधिक सड़कें बदहाल हुई हैं। अभी मौसम साफ हो गया है लेकिन विभाग द्वारा संपर्क मार्गों को सुधारने के लिए कोई उचित कदम नहीं उठाए गए हैं।

Posted By: Jagran