संवाद सहयोगी, बिलासपुर : इंसान व जानवरों के लिए गंभीर चुनौती तथा पर्यावरण के लिए अभिशाप बन चुके प्लास्टिक की बोतलें व कैन अब बिलासपुर शहर में नजर नहीं आएंगे। जिला प्रशासन ने इनका सही बंदोबस्त करने का निर्णय लिया है। प्लास्टिक की बेकार पड़ी बोतलों से बिलासपुर में भव्य मूर्ति का निर्माण किया जाएगा। बिलासपुर में फैले प्लास्टिक कचरे का सदुपयोग करते हुए एक विशालकाय पर्यावरण संरक्षण का संदेश देती हुई प्रेरणाप्रद मूर्ती का निर्माण करवाया जा रहा है, जिसे लेकर तैयारी शुरू कर दी गई है। इसके लिए हिमाचल के राष्ट्रीय पुरस्कार प्राप्त प्रख्यात मूर्तिकार व चित्रकार विजय राज उपाध्याय को जिम्मेदारी सौंपी गई है। उपायुक्त विवेक भाटिया ने बताया कि समाज में बढ़ रही इस ज्वलंत समस्या से निपटने के लिए एक नई पहल करने की कोशिश की जा रही है। इसमें बिलासपुर के सभी लोग पर्यावरण के प्रति सजगता व कर्तव्यनिष्ठा दर्शाते हुए अपने आसपास फैले प्लास्टिक बोतल और कैन को इकट्ठा करना शुरू करें, जिसे बाद में प्रशासन द्वारा चिन्हित कलेक्शन सेंटर में मूर्ति निर्माण के लिए एकत्रित किया जा सके। उन्होंने जिला के नागरिकों, होटल, ढाबा मालिकों, शैक्षणिक संस्थानों व स्वयंसेवी संस्थाओं का आह्वान किया कि पर्यावरण संरक्षण के लिए और शहर की सुंदरता को बनाए रखने के लिए इस कार्य में बढ़-चढ़कर सहयोग दें।

Posted By: Jagran