बादाम
याद्दाश्त बरकरार रखने के लिए बादाम को काफी उपयोगी माना जाता है। बादाम में मौजूद पोषक तत्व जैसे प्रोटीन, मैंग्नीज, कॉपर और राइबोफ्लेविन आदि अल्जाइमर और अन्य मस्तिष्क संबंधी रोगों को दूर करने में मदद करते हैं। रात को पांच बादाम भिगोकर रख दें। सुबह उठकर उनका सेवन करने से दिमाग सक्रियता से कार्य करता है।

मछली
मांसाहारी लोगों के लिए मछली का सेवन दिमाग के लिए बहुत ही बढ़िया माना जाता है। मछली में भरपूर मात्रा में ओमेगा-3 फैटी एसिड की मौजूदगी के कारण इसे ब्रेन फूड भी कहा जाता है। मछली खाने से याद्दाश्त बढ़ती है।

अंडा
अंडा भी याद्दाश्त को बरकरार रखने और स्मरण शक्ति को बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। खासकर इसका पीला हिस्सा, तो मस्तिष्क के लिए बहुत फायदेमंद होता है।


डार्क चॉकलेट
डार्क चॉकलेट से भी याद्दाश्त दुरुस्त रहती है और दिमाग की कार्यक्षमता बढ़ती है। डार्क चॉकलेट में एंटीऑक्सीडेंट्स प्रचुर मात्रा में होते हैं जो दिमाग में रक्त संचार को ठीक रखते हैं।

ऑलिव ऑयल
ऑलिव ऑयल में मोनोसेच्युरेटेड फैट्स की पर्याप्त मात्रा होती है, जिनसे रक्त-शिराओं (ब्लड वेन्स) की सक्रियता बढ़ती है। रक्त शिराओं में सक्रियता से याद्दाश्त बढ़ती है।

सूरजमुखी के बीज
विटामिन ई और सी की पर्याप्त मात्रा एकाग्रता और स्मरण शक्ति के लिए फायदेमंद होती है। सूरजमुखी के बीज विटामिन ई के अच्छे सोर्स होते हैं।

अखरोट
अखरोट में एंटीऑक्सीडेंट्स और विटामिन ई भरपूर मात्रा में पाया जाता है। एंटीऑक्सीडेंट्स शरीर में मौजूद प्राकृतिक रसायनों को नष्ट होने से रोककर रोगों की रोकथाम करते हैं। इसमें उच्च मात्रा में प्रोटीन मौजूद होता है। रोजाना अखरोट के सेवन से याद्दाश्त बढ़ती है।

यह भी पढ़ें: गठिया की समस्‍या से पाना है छुटकारा तो अभी से शुरू कर दें ये उपाय

फिलिंग की जरूरत नहीं, सड़ रहे दांतों को ठीक कर देगी अल्‍जाइमर की ये दवा

Posted By: Pratibha Kumari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप