संवाद सहयोगी, जठलाना : महिला एवं बाल विकास विभाग की ओर से जठलाना में सीडीपीओ रेनू शर्मा की अध्यक्षता में कुआं पूजन कर बेटी बचाने का संदेश दिया। कार्यक्रम के दौरान महिलाओं ने पूरे रीति रिवाज, लोक गीत गाकर व पूजा अर्चना कर कुआं पूजन का कार्य संपन्न किया और संदेश दिया कि बेटियों को बेटों के जैसा प्यार दें। बेटा-बेटी में अंतर न समझें। कार्यक्रम की अध्यक्षता सुपरवाइजर मीना कांबोज ने की।

सीडीपीओ रेनू शर्मा ने कहा कि बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ को सफल बनाने के लिए महिला एवं बाल विकास विभाग की ओर से विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है। इसी कड़ी में कुआं पूजन कार्यक्रम आयोजित किया। यह परंपरा प्राचीन समय से चली आ रही है। बेटा पैदा होने के कुछ दिनों बाद उसकी लंबी आयु के लिए कुआं पूजन किया जाता है।

उन्होंने बताया कि विभाग की ओर से इस कार्यक्रम के आयोजन का मकसद समाज में बेटियों के प्रति सकारात्मक सोच को विकसित करना है। लड़कियों के प्रति लोगों की मानसिकता को बदलना बहुत जरूरी है। बेटियों के पोषण पर विशेष रूप से ध्यान रखें। उनको पौष्टिक आहार दें, ताकि उनका शारीरिक व मानसिक विकास हो।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप