संवाद सहयोगी, रादौर :

पटाक माजरी में दो चचेरे भाईयों के बीच चल रहे विवाद ने खूनी संघर्ष का रूप ले लिया। दोनों पक्षों के बीच जमकर लाठियां, डंडों व तेजधार हथियारों के प्रयोग किए जाने के आरोप लगे हैं। हमले में दोनों पक्षों के आधा दर्जन से अधिक लोग घायल हुए हैं। इसमें से तीन की हालत गंभीर होने पर उन्हें यहां से यमुनानगर रेफर कर दिया गया। रात्रि के समय जब मामला बढ़ गया तो डीएसपी रजत गुलिया, डीएसपी हेडक्वार्टर कंवलजीत सिंह, थाना रादौर प्रभारी राजकुमार, जठलाना प्रभारी रघुबीर सिंह, छप्पर थाना प्रभारी जगदीश सहित भारी पुलिस बल मौके पर तैनात हो गया। शुक्रवार को भी प्रशासन की ओर से पुलिस बल को मौके पर तैनात रखा गया। वहीं, समाचार लिखे जाने तक एक पक्ष की ओर से ही पुलिस को लिखित में शिकायत दी गई थी। शिकायतकर्ता राजकुमार ने बताया कि विवाद की रंजिश के चलते कुछ लोगों ने उनके घर में घुसकर उन पर हमला किया। हमलावर लाठियां व डंडे लिए हुए थे। जिस पर उनके परिवार के छह लोग घायल हुए है।

एक दिन पहले दोनों पक्षों की शिकायत पर दर्ज हुआ था मामला

पटाक माजरी निवासी रविकांत व राजकुमार दोनों चचेरे भाई है। एक दिन पहले दोनों पक्षो ने थाने में अलग अलग शिकायतें दी थी। जिसमें रविकांत ने अपने राजकुमार व उसके परिवार पर तांत्रिक विद्या करने का आरोप लगाया था। उनका कहना था कि तांत्रिक विद्या के तहत उन्होंने उसकी भतीजी को उठाने का प्रयास किया लेकिन उनकी आंख खुल गई, जिस पर मारपीट हो गई। वहीं राजकुमार ने शिकायत में कहा था कि रविकांत चोरी के इरादे से उनके घर की छत पर पहुंचा था जब उन्होंने उसे पकड़ा तो उसने परिवार के सदस्यों के साथ मिलकर उन पर हमला बोल दिया और वह घायल हो गए।

विवाद में यह हुए घायल

रात्रि के समय हुए विवाद में राजकुमार पक्ष के उसके अलावा उसके पिता फकीरचंद, सुरेशो देवी, मामचंद, रीटा, कुसमलता घायल हुए है। जिनका अस्पताल में इलाज चल रहा है। फकीरचंद की हालत गंभीर होने पर उसे यमुनानगर रेफर किया गया है। वहीं, रविकांत पक्ष की ओर से गुलशन सहित तीन लोग घायल बताए जा रहे है। जिनसे से दो की हालत गंभीर होने पर उसे यहां से रेफर किया गया है।

विवाद के बाद रविकांत के पक्ष में उतरे कालोनी के अन्य लोग

दोनों पक्षों में हुए विवाद के बाद कालोनी के अन्य लोग रविकांत के पक्ष में उतर आए। उन्होंने भी राजकुमार के परिवार पर तंत्र विद्या करने के गंभीर आरोप लगाए है। रविदास मंदिर के प्रधान ऋषिपाल ने बताया कि फकीरचंद के लड़के तंत्र विद्या करते है और लोगों को धमकाते है कि उनका कोई कुछ नहीं बिगाड़ सकता। एक दिन पहले उन्होंने इसी कारण रविकांत भी भतीजी को उठाने का प्रयास किया जिस पर झगड़ा हुआ। रात के समय भी उन्होंने काम से लौट रहे रविकांत के परिवार के लोगों पर लाठियों डंडो से हमला किया है। जिसमें उनके तीन लोग घायल हुए है।

विवाद की सूचना मिलने पर पुलिस टीमें मौके पर पहुंची थी। दोनों पक्षों के करीब तीन लोग घायल हुए है। फिलहाल उनके पास राजकुमार की ओर से शिकायत पहुंची है। दोनों पक्षों की बातचीत चल रही है। अगर कोई हल नहीं निकला तो शिकायतों के आधार पर मामले में कार्रवाई की जाएगी। पटाक माजरी में शांति बनी रहे इसको लेकर पुलिस कर्मचारियों को मौके पर तैनात किया गया है।- राजकुमार, थाना प्रभारी रादौर

Edited By: Jagran