जागरण संवाददाता, यमुनानगर : जिले में ईद उल फितर का त्योहार आस्था के साथ मनाया गया। देश में अमन और शांति के के लिए हजारों हाथ एक साथ उठे। ईदगाहों पर ईद की नमाज पढ़ी गई। यहां गांव और शहरों की ईदगाहों में लोगों ने ईद की नमाज अदा की। बूड़िया रोड, रादौर रोड, पुराना हमीदा, खिजरी, खिजराबाद, बागपत सहित कई स्थानों पर नमाज हुई।

बूड़िया ईदगाह में पीर हुसैन अहमद ने नमाज पढ़ाई। उन्होंने कहा कि ईद के दिन हमें देश में बसने वाले हर नागरिक के लिए प्रेम और भाईचारे का संदेश देना चाहिए। ईद का त्योहार रमजान के पवित्र महीने के रोजे रखने के बाद प्राप्त होता है, जिसका अलग ही आभास होता है। पूर्व पंचायत सदस्य अदरीश खान, निगम के वार्ड पार्षद देवेंद्र सिंह, समाजसेवी राजू उप्पल आदि ने बूड़िया वासियों को ईद की मुबारकबाद पेश की। जिला जटावाला में ईद की नमाज जामा मस्जिद के इमाम साहब ने अदा कराई। ग्रामीणों ने ईदगाह जटावाला में ईद की नमाज अदा की। सरपंच निसार, आबिद, हसनदीन, अब्दुल वाजिद, राशिद, फारूक गुर्जर, कारी मोहम्मद आलिम रहमानी, शकील अहमद, मारूफ, नूर अली, नूर मोहम्मद, राकिब, इसरान, असलम खान और जुलफान, अफलातून, अकरम आदि ने एक दूसरे को गले मिलकर ईद की मुबारकबाद दी। रादौर रोड पर मौलाना आलिम नदवी, जगाधरी में हाफ़•िा अब्दुल गफ्फार, बिलासपुर में मौलाना नूर मोहम्मद, साढौरा में हाफ़•िा यामीन और हाफ़•िा मुहम्मद आरिफ, छछरौली में हाफ़•िा यासीन, खिजराबाद में हाफ़•िा अब्दुल कदीर, मौलाना अहमदुद्दीन, और कारी सईदुज्जमां आदि ने ईद की नमाज अदा करवाई।

ईदगाह के बाहर रहा मेले जैसा माहौल

बूड़िया रोड पर बनी ईदगाह के बाहर काफी दुकानें सजी थी। सुरक्षा के लिहाज से यहां पुलिस बल भी तैनात था। लोग दुकानों से सामान की खरीदारी कर रहे थे।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस