जागरण संवाददाता, यमुनानगर : जिले में लोगों के अंदर एंटीबाडी जांचने को चलने वाला सीरो सर्वे स्थगित हो गया है। विभाग ने इसके लिए पूरी तैयारी कर ली थी, लेकिन ऐन वक्त पर सर्वे स्थगित कर दिया गया। यह पूरे प्रदेश में किया गया है। सर्वे को लेकर गाइडलाइन में कुछ बदलाव किया जाना है।

गत वर्ष भी स्वास्थ्य विभाग ने लोगों में एंटीबाडी जांचने के लिए सर्वे कराया गया था। दो बार सर्वे हुआ। पहली बार 22 अगस्त को सीरो सर्वे कराया था। 850 लोगों के सैंपल जांच अलग-अलग जगहों से लिए गए थे। पहले राउंड के सीरो सर्वे में 8.5 फीसद लोग ऐसे मिले थे। जिनके अंदर से कोरोना होकर गुजर चुका है। फिर दूसरा सर्वे 20 अक्टूबर को हुआ। जिसमें 751 सैंपल लिए गए थे। इसमें 28 फीसद लोग ऐसे मिले थे। जिनके अंदर से कोरोना होकर गुजर चुका था। उनमें एंटीबाडी बन चुकी थी।

इस बार सीरो सर्वे में बच्चे भी थे शामिल

मंगलवार को होने वाले सीरो सर्वे में बच्चों की भी एंटीबाडी जांचने के लिए भी सैंपल लिए जाने थे, क्योंकि कोरोना की दूसरी लहर में बच्चे भी चपेट में आए थे। ऐसे में कुछ ऐसे भी बच्चे हो सकते हैं, जिनके अंदर से कोरोना होकर गुजर चुका होगा। सैंपल लेने के लिए कैटेगरी बनाई गई है। सिविल सर्जन डा. विजय दहिया ने बताया कि फिलहाल सर्वे स्थगित हो गया है। आगामी आदेशों के बाद सर्वे किया जाएगा। शिविर में 202 लोगों ने लगवाई कोरोना वैक्सीन

संवाद सहयोगी, रादौर: सेवा भारती, स्वदेशी जागरण मंच की तरफ से स्वास्थ्य विभाग की ओर से कांजनू गांव में वैक्सीनेशन शिविर का आयोजन किया गया। जिसमें 18 से 44 आयु वर्ग के 202 लोगों को वैक्सीन का टीका लगाया गया। इसकी अध्यक्षता स्वदेशी जागरण मंच के जिला सह संयोजक प्रदीप कांबोज व धनपत सैनी ने की। अंकित कांबोज ने शिविर में अपनी सेवाएं दी।

प्रदीप कांबोज व धनपत सैनी ने कहा कि कोरोना से बचाव के लिए वैक्सीन का लगाया जाना जरूरी है। यह कोरोना पर अचूक प्रहार है। जिससे हम जल्द से जल्द कोरोना महामारी पर काबू पा सकते है। इसलिए हमें किसी भी प्रकार के भ्रम में न पड़ते हुए वैक्सीन अवश्य लगवानी चाहिए। अन्य लोगों को भी अधिक से अधिक संख्या में वैक्सीन लगवाने के लिए प्रेरित करना चाहिए। मौके पर वेद कांबोज, सचिन कांजनू, आयुष कांबोज, विश्वेंद्र शर्मा, विरेंद्र सैनी, जयप्रकाश कांजनू, शंटी मौजूद रहे।

Edited By: Jagran