जागरण संवाददाता, यमुनानगर : मेयर मदन चौहान व निगमायुक्त अजय सिंह तोमर के साथ इंदौर दौरे पर गई निगम अधिकारियों की टीम ने बुधवार को कचरा प्रबंधन से लेकर निस्तारण तक की कार्यविधि की जानकारी हासिल की। इस दौरान निगम अधिकारियों की टीम ने डोर टू डोर कचरा उठाने वाले वाहन, गारबेज ट्रांसफर स्टेशन, जीपीएस कंट्रोल रूम व कचरा निस्तारण प्लांट का दौरा किया। इस दौरान वहां कचरा निस्तारण व प्रबंधन की कार्यप्रणाली की जानकारी ली।

इंदौर दौरे पर गए मेयर मदन चौहान, निगमायुक्त अजय सिंह तोमर, वरिष्ठ उप महापौर प्रवीण कुमार शर्मा, उप महापौर रानी कालड़ा, उप निगम आयुक्त अशोक कुमार, उप निगम आयुक्त विनोद नेहरा, अकाउंट आफिसर विशाल कौशिक, चीफ सेनेटरी इंस्पेक्टर अनिल नैन, हरजीत सिंह, सुरेंद्र चौपड़ा, सेनिटेशन कमेटी के सदस्य एवं पार्षद अभिषेक मोदगिल, सविता कांबोज, संकेत प्रकाश की टीम ने बुधवार को सबसे पहले डोर टू डोर कचरा उठाने वाले वाहनों की कार्यविधि जानी। जिसमें सूखा व गीला कचरा अलग अलग डालने के लिए पार्टिशन बने हुए थे। वाहन में कचरा लोड होने के बाद उसे पूरी तरह कवर किया हुआ था। इसके बाद निगम अधिकारियों की टीम ने गारबेज ट्रांसफर स्टेशन (कचरा स्थानांतरण स्टेशन) पहुंची। सालिड वेस्ट मैनेजमेंट के अंतर्गत यहां शहर के विभिन्न मुहल्लों से लाए गए कचरे को आधुनिक मशीनों से कचरे का प्रबंधन किया जा रहा था। इसके बाद टीम जीपीएस कंट्रोल रूम पहुंची। यहां जीपीएस सिस्टम द्वारा डोर टू डोर कचरा उठाने वाले वाहनों पर नजर रखी जा रही थी। जो वाहन काफी समय से एक स्थान पर रुका हुआ मिलता था। उसे कंट्रोल रूम में बैठे कर्मी द्वारा फोन करके रुकने का कारण पूछा जा रहा था। इसके अलावा हर वार्ड में नियमित रूप से कचरा उठाने वाले वाहन के आने जाने की व्यवस्था की गई थी। जीपीएस कंट्रोल रूम के बाद निगम की टीम ने कचरा निस्तारण प्लांट पहुंची। जहां कर्मचारियों व आधुनिक मशीनों द्वारा पालीथिन, प्लास्टिम, सीएंडडी वेस्ट व अन्य प्रकार के कचरे को अलग अलग किया जा रहा था। इसके बाद उसका निस्तारण किया जा रहा था।

मेयर मदन चौहान, आयुक्त अजय सिंह तोमर व अन्य अधिकारियों ने पूरी कार्य प्रणाली की विस्तार से जानकारी हासिल की। इसके बाद निगम की टीम बायोगैस प्लांट पहुंची। यहां भी प्लांट की कार्यप्रणाली की जानकारी प्राप्त की। बता दें कि स्वच्छ सर्वेक्षण में हर साल नंबर एक पर आने वाले इंदौर को सबसे साफ व सुंदर बनाने में नगर निगम प्रशासन इंदौर की कार्यप्रणाली क्या है। इसे जानने के लिए महापौर मदन चौहान निगम के आला अधिकारियों व सेनिटेशन कमेटी के सदस्यों के साथ चार दिन के दौरे पर इंदौर गए हुए है। ताकि वहां की कार्यप्रणाली को अपने शहर में लागू कर अपनी ट्विन सिटी को भी इंदौर की तरह साफ व सुंदर बना सके। महापौर मदन चौहान व आयुक्त अजय सिंह तोमर ने कहा कि इंदौर में शहर को साफ व स्वच्छ बनाने में योगदान देने वाली कई अहम जानकारियां जानने को मिली है। इसको लेकर नगर निगम आयुक्त इंदौर प्रतिभा पाल व अन्य प्रशासन अधिकारियों के साथ भी बातचीत हुई है। यहां की कार्यप्रणाली जानने के बाद उसे अपनी टिवनसिटी में लागू किया जाएगा। ताकि हमारी टविन सिटी सबसे सुंदर व स्मार्ट बन सके।

Edited By: Jagran