जागरण संवाददाता, यमुनानगर : नगर निगम चुनाव को लेकर सरर्गिमयां तेज हो गई हैं। वार्ड की संख्या बढ़ने और फेरबदल के बाद मुकाबला और भी कड़ा हो गया। पुरानों के साथ-साथ नए चेहरे भी मैदान में ताल ठोक रहे हैं। नई वार्डबंदी के बाद हालात ऐसे पैदा हो गए कि कई में दो-दो निवर्तमान पार्षद आमने-सामने हैं। मेयर के सीधे चुनाव के बाद समीकरण और भी बदल गए। राजनीतिक दलों के साथ-साथ सामाजिक संगठनों से जुड़े लोग भी मेयर पद के लिए मैदान में हैं। इनसेट

नाम फाइनल नहीं कर रहे हैं प्रचार :

किसी भी राजनीतिक दल ने अभी तक मेयर पद के लिए उम्मीदवार की घोषणा नहीं की है। उम्मीदवार को लेकर शीर्ष नेता भी अभी चुपी साधे हुए है। लेकिन भावी मेयर मैदान में कूच कर चुके हैं। सोशल मीडिया पर प्रचार जोरशोर से चल रहा है। कमेंट भी खूब आ रहे हैं। कोई गली पक्की तो कोई युवाओं को रोजगार देने का दावा ठोक रहा है। भाजपा से इनकी दावेदारी :

सत्ता पक्ष की बात की जाए तो जिला प्रधान महेंद्र खदरी, पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ के प्रदेशाध्यक्ष मदन चौहान, राम निवास गर्ग, निवर्तमान पार्षद संगीता ¨सघल, निवर्तमान सीनियर डिप्टी मेयर पवन बिट्टू, आरएसस से जुड़े रोचक गर्ग भी तैयारी में है। कांग्रेस से इनकी दावेदारी :

इसके अलावा कांग्रेस पार्टी के शैलजा खेमे से दर्शन लाल खेड़ा, सतीश तेजली, देवेंद्र चावला, राकेश उर्फ काका, अनिल गोयल, नरपाल गुर्जर निवर्तमान पार्षद निर्मल चौहान, निवर्तमान पार्षद देवेंद्र ¨सह मेयर पद की तैयारी में है।

इनेलो से इनकी दावेदारी :

इनेलो से ब¨लद्र ¨सह, महीपाल ¨सह भगवानगढ़, पूर्व विधायक के बेटे अंकुर गंभीर, पूर्व दिलबाग ¨सह के परिवार से मेयर के चुनाव के तैयारी हो रही है। कई संगठनों से जुड़े होने के कारण निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर चौधरी मेवा राम दावेदारी जता रहे हैं। ये वार्ड हुए आरक्षित यमुनानगर

नई वार्ड बंदी से कई पार्षदों की चुनावी मुकाबला कड़ा हो गया है। नई बार्ड बंदी के हिसाब से 20 से बढ़कर वार्ड 22 हो गए हैं।ध्यान रहे नए सर्वे में शहर की जनसंख्या चार लाख 81 हजार 032 है। कुल 22 वार्ड में से महिलाओं के लिए आठ वार्ड आरक्षित किए हैं। पिछड़ी जाति के लिए दो वार्ड आरक्षित हुए हैं। अनसूचित जाति के लिए चार और अनसूचित जाति की महिलाओं के लिए वार्ड दो आरक्षित किए हैं। इनसेट

सोशल मीडिया पर प्रचार

नगर निगम चुनाव को लेकर सरर्गिमयां तेज हो गई हैं। राजनीतिक दलों ने अभी अपने उम्मीदवार घोषित नहीं किए, लेकिन कुछ ने स्वयं ही अपने आपको उम्मीदवार घोषित कर लिया। सोशल मीडिया पर प्रचार खूब किया जा रहा है और होíडंग भी लगे हैं। इसके अलावा भावी पार्षद भी खूब गोटियां फिट करने में जुटे हैं। पुरानों के साथ-साथ कई नए चेहरे भी मैदान में हैं। इनसेट

आ चुकी इवीएम

मेयर व पार्षदों के चुनाव के लिए चुनाव आयोग की ओर से अब डबल बटन वाली ईवीएम आई हैं। 700 बेल्ट यूनिट व 350 कंट्रोल युनिट आई हैं। पहले ¨सगल बटन वाली मशीनें आई थी, लेकिन मेयर के सीधे चुनाव के फैसले के बाद इन्हें वापस भेज दिया था। अधिकारियों के मुताबिक जल्द की नगर निगम चुनाव घोषित हो सकते हैं। चुनाव के लिए आवश्यक सभी तैयारियां की जा रही हैं।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप