जागरण संवाददाता, यमुनानगर : मुकंद लाल नेशनल कॉलेज में राजनीति विज्ञान विभाग की ओर से आध्यात्मिक गुरु स्वामी विवेकानंद की 156 वीं जयंती राष्ट्रीय युवा दिवस के रूप में धूमधाम से मनाई गई। प्राचार्य डॉ. शैलेश कपूर, अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् के राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य बलजीत यादव, पूर्व छात्रा नेता जतिन, कॉलेज छात्रा संघ की अध्यक्षा सपना, उपाध्यक्ष अवनीश, महासचिव रिजूल, सचिव वैभव ने दीप प्रज्जवलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया।

डॉ. कपूर ने कहा कि स्वामी विवेकानंद ने अपने विचारों से न सिर्फ भारत का नाम रोशन किया अपितु पूरे विश्व में देश का मान बढ़ाया था। उन्हें सदैव सकारात्मक दिशा में आगे बढ़ने की प्रेरणा देते हुए कहा कि - विवेकानंद का जीवन दर्शन समाज सापेक्ष-राष्ट्र सापेक्ष और विश्व सापेक्ष ही रहा है। उन्होंने अपनी युवावस्था में ही अध्यात्मिकता से परिपूर्ण वेदांत दर्शन को अमेरिका और यूरोप के क्षितिज में फैलाया था। दिखावे की संस्कृति से दूर रहते हुए अपने आचरण व व्यवहार से सबको यह संदेश दिया कि व्यक्ति के आचरण और व्यवहार से ही उसकी सच्ची पहचान होती है। आज जिस तरह का माहौल देश में बना हुआ है ऐसे में युवाओं की भूमिका और जिम्मेदारी और भी अधिक बढ़ गई है कि वे देश हित की बात सोचते हुए देश के विकास में अपना योगदान दें और निरंतर तब तक प्रयत्न करते रहे जब तब अपने लक्ष्य में सफल नहीं हो जाते। मौके पर डॉ. पवन गाबा, डॉ. मनोहर गोयल, प्रोफेसर प्रवीन खुराना, प्रोफेसर पंकज कुमार, प्रोफेसर अभिलव विशेष रूप से उपस्थित थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप