जागरण संवाददाता, जगाधरी : हिदू ग‌र्ल्स कॉलेज मंगलवार को 10 दिवसीय संस्कृत सम्भाषण शिविर का शुभारंभ किया गया। प्राचार्या डॉ. उज्ज्वल शर्मा ने कहा कि संस्कृत सभी भारतीय भाषाओं की जननी है। आज से तीन हजार वर्ष पूर्व हमारे ऋषि मुनि संस्कृत भाषा में ही बोलते थे। जब दुनिया ने पढ़ना लिखना भी नही सीखा था, तब हमारे देश में वेदों को संस्कृत में लिखा गया था। इसलिए आज वर्तमान में संस्कृत भाषा हमारे समाज के लिए बहुत ही आवश्यक है। जरूरी है इसलिए संस्कृत भारती के द्वारा सरल भाषा के तहत राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय स्तर पर संस्कृत भाषा को बोलना, लिखना, पढ़ना सिखाया जा रहा है, ताकि नई पीढ़़ी इस भाषा में बोले लेखन करे तथा उनका उज्ज्वल भविष्य साकार हो। संस्कृत विभाग की आचार्या डॉ. स्वाति गेरा इसकी आयोजक रही।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस