जागरण संवाददाता, यमुनानगर : जिला निर्वाचन कार्यालय ने वोट बनवाने के लिए विशेष अभियान शुरू किया हुआ है। मतदाताओं की संख्या बढ़ने से इस बार बूथों की संख्या भी बढ़ गई है। वर्ष 2019 के चुनावों की तैयारियां शुरू हो गई है।

आगामी लोकसभा व विधानसभा चुनावों के लिए चुनाव आयोग ने 109 नए बूथ बनाए हैं। गत चुनाव में बूथ 849 से बढ़कर 968 होंगे।

जगाधरी विधानसभा में बढ़े सबसे ज्यादा बूथ

जिला में साढौरा (आरक्षित), जगाधरी, यमुनानगर व रादौर विधानसभा हैं। इस बार सबसे ज्यादा 33 नए बूथ जगाधरी विधानसभा में बनाए गए हैं। अब यहां बूथों की संख्या 206 से बढ़कर 239 हो गई है। वहीं, साढौरा में 27 नए बूथ बनने से बूथों की संख्या 231 से बढ़कर 258, यमुनानगर में 23 नए बूथ बनने से बूथों की संख्या 207 से बढ़कर 230 तथा रादौर में 26 नए बूथ बनने से मतदान केंद्रों की संख्या 205 से 231 हो गई है। ग्रामीण क्षेत्र में बूथ पर 1200 तथा शहरी क्षेत्र में 1400 मतदाता बढ़ने पर एक नया बूथ निर्वाचन आयोग द्वारा बनाया जाता है।

इन मतदान केंद्रों पर बनाए गए नए बूथ

साढौरा विधानसभा : ग्रामीण क्षेत्र के मतदान केंद्रों 16, 26, 38, 44, 49, 50, 53, 54, 55, 76, 79, 99, 100, 108, 133, 157, 158, 159, 161, 166, 169, 178, 180, 189, 192, 204, 211 पर 1200 से अधिक मतदाता बढ़ने पर 27 नए बूथ बनाए गए हैं।

जगाधरी विधानसभा : ग्रामीण क्षेत्र के मतदान केंद्र संख्या 4, 11, 16, 18, 19, 20, 26, 27, 32, 43, 61, 70, 78, 79, 80, 84,93, 102, 105, 111, 113, 190, 199, 202, 203, 206 व शहरी क्षेत्र के मतदान केंद्र संख्या 120, 124, 125, 126, 147, 167, 188 पर नए बूथ बनाए गए हैं।

यमुनानगर विधानसभा : ग्रामीण क्षेत्र के मतदान केंद्र संख्या 4, 6, 14, 15, 18, 25, 33, 36, 187, 192, 203 व शहरी क्षेत्र के मतदान केंद्र संख्या 43, 48, 62, 74, 93, 131, 132, 143, 174, 175, 176, 178 पर नए बूथ बनाए गए हैं। इसके अतिरिक्त शहरी मतदान केंद्र संख्या 94, 96 व 118 में मतदाताओं की संख्या 1400 से अधिक होने के कारण मतदाताओं की सुविधा हेतु इन केंद्रों से कुछ मतदाताओं को दूसरे मतदान केंद्रों में स्थानांतरित किया गया है। जबकि ग्रामीण क्षेत्र के मतदान संख्या 185 व 186 में मतदाताओं की संख्या 1200 से अधिक होने के कारण इन मतदान केंद्रों से कुछ मतदाताओं को दूसरे मतदान केंद्रों में स्थानांतरित किया गया है।

रादौर विधानसभा : ग्रामीण क्षेत्र के मतदान केंद्र संख्या 15, 24, 26, 27, 32, 34, 39, 40, 45, 48, 56, 62, 81, 83, 85, 104, 112, 120, 123, 152, 156, 164, 168, 170, 171 पर नए बूथ बनाए गए हैं। जबकि मतदान केंद्र 195 में मतदाताओं की संख्या 1200 से अधिक होने के कारण कुल 26 नए मतदान केंद्र बनाए गए हैं।

इन तारीखों को वोट बनाने का चलेगा विशेष अभियान

यदि किसी मतदाता का कोई दावा या आपत्ति है तो वह 31 अक्टूबर तक दर्ज करवा सकता है। नई वोट बनाने के लिए भी भारतीय निर्वाचन आयोग 22 व 23 सितंबर तथा 13 व 14 अक्टूबर 2018 को विशेष अभियान चलाएगा। इन तारीखों को सभी बीएलओ अपने-अपने मतदान केंद्रों पर मौजूद रहेंगे। इनके द्वारा वोटर सूची की पड़ताल की जाएगी। यदि किसी व्यक्ति का नाम या फोटो मतदाता सूची में गलत होगा उसे ठीक किया जाएगा। नई वोट बनवाने के लिए 18 साल आयु पूरी कर चुके युवकों को फार्म-6, मतदाता सूची से नाम कटवाने के लिए फार्म-7 तथा शुद्धियों के लिए फार्म-8 भरना होगा।

निर्वाचन आयोग का नियम है : रामनिवास

चुनाव तहसीलदार रामनिवास ने बताया कि निर्वाचन आयोग का नियम है कि ग्रामीण क्षेत्र में एक बूथ पर 1200 व शहरी क्षेत्र में 1400 से अधिक मतदाता नहीं होने चाहिए। इसलिए 109 नए बूथ बनाए गए हैं।

Posted By: Jagran