जागरण संवाददाता, यमुनानगर :

नए ट्रैफिक नियमों के प्रति चालकों को जागरूक करने के लिए ट्रैफिक व शहर यमुनानगर पुलिस की ओर से अभियान चलाया गया। एसपी कुलदीप सिंह, डीएसपी हेडक्वार्टर सुभाष चंद ने वाहन चालकों को गुलाब का फूल व हेलमेट दिए। उन्हें नियमों का पाठ पढ़ाया गया।

एसपी ने कहा कि तीन दिन तक जागरूकता अभियान चलेगा। इस दौरान कोई चालान नहीं होगा। यदि कोई शराब पीकर वाहन चलाता है तो उस पर कार्रवाई होगी। फव्वारा चौक पर सुबह करीब 11 बजे पुलिस की इस दौरान कॉलेज के छात्र-छात्राओं को भी साथ लिया गया।

इस दौरान पुलिस को देखकर कुछ दुपहिया वाहन चालक चेकिग में खुद के फंसने के डर से पीछे से ही लौट गए। वहीं कुछ पुलिस के सामने से ही भागने लगे। हालांकि उन्हें रोककर समझाया गया कि यह सिर्फ जागरूकता अभियान है। उनको फूल दिया गया और आगे से वाहन चलाते समय सीट बेल्ट व हेलमेट लगाकर चलने की नसीहत दी गई।

दोहती ने नाना को पहनाया हेलमेट

कांसापुर के सुरेंद्र कुमार दोहती के साथ बाइक पर आ रहे थे। पुलिस ने उन्हें रोक लिया। पहले तो वह मिन्नतें करने लगे। बाद में उन्हें अभियान के बारे में बताया। इस दौरान ट्रैफिक एसएचओ ओमप्रकाश ने उन्हें हेलमेट दिया और आगे से बिना इसे पहने वाहन न चलाने के लिए कहा।

बहन के हाथों भाई को पहनवाया हेलमेट

डीएसपी हेडक्वार्टर ने बाइक पर आ रहे युवक व युवती को रोका। युवक ने अपना नाम नीरज व युवती ने अंजू बताया। दोनों भाई-बहन थे। डीएसपी ने उन्हें हेलमेट देकर महत्तव समझाया। साथ ही अंजू को बोला कि भाई के हाथ में जिस तरह से राखी बांधती हो। उसी तरह से हेलमेट भी पहनाओ।

ये हेलमेट के लिए काटते रहे चक्कर : अभियान के दौरान कुछ ऐसे भी युवा आए, जो हेलमेट लेने के लिए आए थे। राहुल नाम के युवक ने कई चक्कर काटे। आखिर में एक पुलिसकर्मी ने देखा तो रोक लिया। उसे हेलमेट दिया। यहां से जाते हुए वह बोला कि चार चक्कर काटने के बाद हेलमेट मिला है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप