जागरण संवाददाता, यमुनानगर : जगाधरी में एक फैक्ट्री के गेट पर लगी सील को देख कर व्यापारियों में हड़कंप मच गया। व्यापारियों इसलिए परेशान हो गए कि प्रशासन उनकी फैक्ट्रियों केा सील कर रहा है। एक के बाद एक उन्होंने एक दूसरे के पास फोन किया। जब यह पता नहीं चला कि सील किसने लगाई हो तो आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज को खंगाला गया। जहां से पता चला कि एक व्यक्ति ने मजाक में सील लगाई थी। जिस पर व्यापारी ने उसके खिलाफ चौकी में शिकायत दी। पुलिस ने दोनों पक्षों बातचीत के लिए बुलाया है।

दरअसल इन दिनों लॉकडाउन लगा हुआ है। प्रशासन ने केवल फल, सब्जी, करियाना व दूध डेयरियों को ही खोलने की अनुमति दे रखी है। फिर भी कुछ फैक्ट्री संचालक अपने स्तर पर गुपचुप तरीके से काम कर रहे हैं। सोमवार को हनुमान गेट जगाधरी पर एक फैक्ट्री के गेट पर किसी व्यक्ति ने कपड़ा लपेट कर उस पर सील लगा दी। जब व्यापारियों ने गेट पर सील लगी देखी तो वह हैरान रह गए। धीरे-धीरे फैक्ट्री को सील करने की बात व्यापारियों में फैल गई। इससे उनमें हड़कंप मच गया। जिन फैक्ट्रियों में गुपचुप तरीके से काम हो रहा था वहां काम करने वाले सभी मजदूरों को तुरंत घर भेज दिया गया। ताकि उन पर कोई कार्रवाई न हो सके। यह अफवाह फैल गई कि लॉकडाउन का पालन नहीं करने वाली फैक्ट्रियों पर प्रशासन कार्रवाई करते हुए उन्हें सील कर रहा है। परंतु किसी को यह पता नहीं चला कि सील कौन से विभाग ने लगाई है। इस पर व्यापारियों ने फैक्ट्री के सामने लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज देखी। जिसमें दिखाई दिया कि आसपास रहने वाला एक व्यक्त फैक्ट्री पर कपड़ा बांध कर सील लगा रहा है। व्यापारियों ने उस व्यक्ति को पहचान कर पकड़ लिया। जिसने पूछताछ करने पर बताया कि उसने मजाक के तौर पर यह कार्य किया था। इसके अलावा उसका कोई ओर मकसद नहीं था। फैक्ट्री संचालक कीमती लाल की तरफ से इसकी शिकायत बूड़िया चौकी में दी गई।

चौकी इंचार्ज राजपाल का कहना है किसी शरारती व्यक्ति ने मजाक के तौर पर यह हरकत की थी। इसकी शिकायत मिली है। दोनों पक्षों को बातचीत के लिए बुलाया गया है।