संवाद सहयोगी, बिलासपुर : जगाधरी रोड पर दी यमुनानगर सेंट्रल कोऑपरेटिव बैंक से डेढ़ लाख रुपये बरामद हुए हैं। 500-500 रुपये के नोटों के तीन पैकेट थे। शनिवार को सामान की जांच करते हुए यह पैकेट मिले जबकि पुलिस को दी शिकायत में बैंक अधिकारियों की ओर से चार लाख 91 हजार रुपये चोरी होने की बात लिखवाई गई थी। बैंक प्रबंधक विजय पाल का कहना है कि पुलिस व सीन आफ क्राइम की टीम की कार्रवाई के बाद बैंक कर्मचारियों ने कमरों में बिखरे सामान को समेटा था। जांच करते हुए फाइलों में रखे तीन पैकेट मिले। इस बारे में पुलिस को सूचित कर दिया है। हालांकि बैंक से परनोट की फाइन भी चोरी हो गई है जिसका प्रयोग लोन देने के लिए किया जाता था। सुनसान जगह पर है बैंक

दी यमुनाननगर सेंट्रल कोऑपरेटिव बैंक जगाधरी मार्ग पर कस्बे से लगभग दो किलोमीटर की दूरी पर है। इसके पास में ही जलघर है। आसपास कोई रिहायशी मकान नहीं है। बैंक के मुख्य गेट के पास दाई ओर दीवार नहीं है। सुरक्षा के लिए कोई चौकीदार तक नहीं रखा गया जबकि सुनसान जगह में होने और दीवार न होने की वजह से कोई भी आसानी से बैंक तक पहुंच सकता है। ग्रामीणों का कहना है कि पिछले कई सालों से बैंक में रात का चौकीदार नही है जिस कारण बैंक को सुनसान ही छोड़ दिया जाता है। बैंक प्रबंधक का कहना है कि कुछ साल पहले चौकीदार शाखा में सोता था। बाद में वह छोड़कर चला गया। दो टीमें लगी हैं जांच में

थाना प्रभारी रवि खुडिया ने बताया कि दो टीमों का गठन कर दिया गया है। हर पहलू की बारीकी से जांच की जा रही है। संदिग्ध व्यक्तियों पर कड़ी नजर रखी जा रही है। सीसीटीवी की फुटेज को भी खंगाला जा रहा है। सेंध लगाकर की गई चोरी

वीरवार की रात बैंक में सेंध लगाकर चोरी की वारदात को अंजाम दिया गया। पुलिस को दी शिकायत के मुताबिक, चार लाख 91 हजार रुपये व सेफ में रखी रायफल और दस कारतूस चोरी होने की बात लिखवाई गई है। इसके आधार पर ही पुलिस ने मामले में केस दर्ज किया।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021