जागरण संवाददाता, यमुनानगर : रादौर के गांव काबुलपुर में एक विवाहिता ने घर में फंदा लगाकर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली। जब विवाहिता ने अपनी जान दी तब घर पर कोई नहीं था। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम करवा परिजनों को सौंप दिया। पुलिस मामले की जांच में जुटी है।

गांव बिजौली निवासी 25 वर्षीय वंदना की शादी गांव काबुलपुर निवासी राहुल के साथ वर्ष 2010 में हुई थी। उसके पास दो बेटियां हैं। घर पर शुक्रवार देर शाम कोई नहीं था। महिला ने पंखे से चुन्नी बांध कर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली। जब रात को उसका पति घर आया तो उसने पत्नी वंदना को आवाज लगाई, लेकिन जब कोई जवाब नहीं आया। तब उसने दरवाजा खोल कर देखा तो उसकी पत्नी वंदना पंखे पर लटकी हुई थी। इसकी सूचना पुलिस को दी गई। पुलिस ने आकर शव को कब्जे में लेकर मौके पर फोरेंसिक टीम को बुलाया गया। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम करवा कर शव परिजनों को सौंप दिया।

महिला का शव परिजनों को सौंपा

शिव नगर में हुई 27 वर्षीय पूजा का शव भी पुलिस ने पोस्टमार्टम के बाद रविवार को परिजनों को सौंप दिया गया। परिजनों के मुताबिक पूजा ने खुद ही फंदा लगाया था। जिससे उसकी मौत हुई। पूजा ने घर की छत पर बने कमरे में जाकर फांसी लगाई। जब परिजनों ने उसे आवाज लगाई तो उसने कोई जवाब नहीं दिया था। ससुराल वालों ने छत पर जाकर देखा तो उसने खुद को फांसी लगाई हुई थी। परिजन जब उसका संस्कार कराने शव को शमशान घाट ले जा रहे थे तो उसकी बहन आरती ने पुलिस को बुला लिया था। पुलिस ने आकर शव को कब्जे में लिया और शनिवार को पोस्टमार्टम करवा परिजनों को सौंप दिया। परिजनों ने गमगीन माहौल में उसका अंतिम संस्कार कर दिया।

मामले की जांच कर रहे एएसआई जसबीर का कहना है कि महिला ने फंदा लगाया था। परिजनों ने किसी पर आरोप नहीं लगाया है। मामले की जांच कर रहे हैं।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप