जागरण संवाददाता, यमुनानगर: विक्रमी संवत 2075 के आगमन पर मानवोदय सेवा संस्थान, श्री कृष्ण कृपा सेवा समिति, भारत विकास परिषद, अग्रवाल वैश्य सम्मेलन सभा, विश्व जागृति मिशन धार्मिक आयोजन करेगा। यह जानकारी समिति के अध्यक्ष अमरनाथ बंसल ने बुधवार को समिति कार्यालय में दी।

उन्होंने कहा कि नवसंवत के उपलक्ष्य में आयोजित बैठक में शहर की अनेक धार्मिक संस्थाओं के पदाधिकारियों ने धूमधाम व धार्मिक पद्धति से नवसंवत मनाने का प्रण लिया। चैत्र मास के प्रथम दिवस 18 मार्च को भारतीय काल गणना के अनुसार है। इसी दिन मां भगवती के पवित्र नवरात्रों का प्रारंभ, ब्रह्मा जी द्वारा सृष्टि उत्पत्ति का दिवस है। सम्राट विक्रमादित्य ने इस दिन विक्रमी संवत का शुभारंभ किया। महर्षि दयानंद सरस्वती ने आर्य समाज के स्थापना दिवस व भगवान झूले लाल के जन्म दिवस के रूप में मनाया। 17 मार्च को रेलवे स्टेशन के नजदीक देवी मंदिर में श्रीकृष्ण कृपा संकीर्तन मंडल के नीरज कालड़ा व नीरू सहयोगियों सहित ठाकुर के भजनों से आनंद की अनुभूति कराएंगे, जिसका शुभारंभ मुख्यातिथि विधायक घनश्याम दास, दिल्ली पब्लिक स्कूल के राम निवास गर्ग, सतपाल गुप्ता व कश्मीरी लाल बंसल ज्योति प्रज्ज्वलित के साथ करेंगे। बैठक में भारत विकास परिषद के प्रधान प्रबोध पुरी, जितेंद्र, भारत भूषण बंसल, डॉ. चरणजीत लाल, भारत भूषण शर्मा, डॉ. हर्ष वर्धन, विपन पराशर, डॉ. अश्वनी, एडवोकेट केवल कृष्ण सैनी, पुरुषोत्तम परूथी, कौशल कुमार, वास्तव, केवल कृष्ण लूथरा आदि उपस्थित थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस