जागरण संवाददाता, यमुनानगर : पांच साल बाद हमें मतदान करने का मौका मिलता है। यह मौका हम गंवाना नहीं चाहते। पहले ही प्लानिग थी कि पहले मतदान करेंगे। इसके बाद बाकि काम की शुरुआत होगी। शहर के ये वे लोग हैं, जो दूसरों के लिए नजीर बने हैं। मतदान के दिन को लेकर शहर के विभिन्न वर्गों के लोगों से बातचीत की गई।

फोटो : 26

डीएवी डेंटल कॉलेज प्रिसिपल डॉ. आईके पंडित का कहना है कि सोमवार को कॉलेज में छु्ट्टी हैं। इसका ये मतलब नहीं है कि वे कही घूमने निकल जाए। वे पहले मतदान करने जाएंगे। उसके बाद प्लानिग के दूसरे काम शुरू होंगे। दूसरे लोगों को भी मतदान के लिए प्रेरित किया हैं।

फोटो : 27

गाबा अस्पताल के संचालक डॉ. बीएस गाबा कहते हैं कि वे सारा दिन व्यस्त रहते हैं।मतदान उनके शेड्यूल में हैं। व्यस्तता के बाद समय निकालकर मतदान के लिए मतदान केंद्र जरूर जाएंगे। मतदान हमारी पॉवर है। अधिकतर लोग मतदान करने तक की जिम्मेदारी तक नहीं निभाते। फोटो : 28

एमएलएन स्कूल की अध्यापिका मुग्धा शर्मा का कहना है कि उन्होंने अपने स्कूल में बच्चों को भी मतदान का महत्व बताया। जो बच्चे इस श्रेणी में आते हैं। उनको ये भी कहा है कि वे अपने आसपास पड़ोस के लोगों को मतदान के लिए प्रेरित करें। जिससे लोकतंत्र के इस पर्व में मतदान की आहुति डाल सकें। फोटो : 29

समाजसेवी लाला अमरनाथ बंसल कहते हैं कि वे हमेश मतदान करते हैं। अगर मतदान केंद्र पर लाइन हो तो वे इंतजार कर लेते हैं।सोमवार को भी सुबह ही मतदान करने की प्लानिग बनाई है । फोटो : 30

एडवोकेट प्रवीण का कहना है कि मतदान हमारा अधिकार है। वोट अपनी समझ से दें। किसी प्रकार के लालच में नहीं आए। आपका विवेक ही इसका आधार होना चाहिए। उनकी सभी लोगों से अपील है कि वे मतदान केंद्र पर जाकर मतदान जरूर करें। जनप्रतिनिधि का चयन उनकी वोटिग पर निर्भर है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप