जागरण संवाददाता, यमुनानगर : अंतरराष्ट्रीय फादर डे के अवसर पर चाइल्ड लाइन टीम की ओर से बच्चों के लिए आनलाइन प्रतियोगिता आयोजित करवाई। इसमें बच्चों ने डांस, संगीत, कविता प्रतियोगिताएं व अपने अपने पिता के लिए कार्ड भी बनाए। इनके माध्यम से पिता को सम्मान दिया।

चाइल्ड लाइन की निदेशिका डा. अंजू बाजपेयी ने कहा कि मां के बाद अगर कोई हमारे दिल के अत्यधिक करीब होता है, वो हैं पिता। पिता का प्यार मां की तरह दिखता नहीं है। लेकिन पिता ही हैं जो हमें अंदर से मजबूत बनाते हैं। दुनिया में अच्छे बुरे की परख हमें पिता ही देते हैं। बेटियां अपने पिता के बहुत करीब होती हैं। पिता के लिए उसकी बेटी हमेशा एक राजकुमारी होती है। बेटे भी अपने पिता को देख कर बड़े होते हैं। जैसी उनकी आदतें होती हैं। वही अपनाते हैं। उनके जीवन का अनुसरण करते हैं। चाइल्ड लाइन की समन्वयक शैफाली ने कहा कि पिता अपनी खुशी छोड़कर अपने बच्चों के लिए मेहनत करते हैं। त्याग व सद्भावना की भावना उनके अंदर होती है। जिस तरह हम मां के सम्मान के लिए मदर्स डे मनाते हैं, उसी तरह पिता के प्यार को सम्मान देने के लिए फादर्स डे मनाया जाता है जिदगी के किसी भी मुकाम पर पहुंचने के लिए पिता का बच्चों के लिए संपूर्ण, अनुशासन और कभी नहीं दिखने वाला प्यार बेटे और बेटी की स्वर्णिम जीवन के लिए अहम होता है। फादर डे पर हइ विभिन्न प्रतियोगिताएं

जागरण संवाददाता, यमुनानगर : सरस्वती विद्या मंदिर में फादर डे पर विभिन्न प्रतियोगिताएं हुई। इस दौरान कार्ड बनाना, गाना गाना ,डांस करना, कविता उच्चारण, पिता के लिए उपहार तैयार करना और पिता के साथ सेल्फी प्रतियोगिता आदि आयोजित की गई। प्रधानाचार्य सुमित जिदल ने बताया कि प्रतियोगिताओं में विद्यार्थियों ने उत्साह के साथ भाग लिया। इस प्रकार की प्रतियोगिताओं से बच्चों का मानिसक व शारीरिक विकास होता है।

Edited By: Jagran