जागरण संवाददाता, यमुनानगर : ट्विन सिटी में सफाई को लेकर नगर निगम ने मास्टर प्लान तैयार किया है। एनजीटी के आदेशानुसार हाल ही में लगाए गए टेंडर की शर्तों में स्पष्ट है कि जिस एजेंसी को सफाई का टेंडर दिया जाएगा, उसके कर्मचारी घर-घर से कूड़ा उठाने के साथ-साथ छंटनी भी करेंगे और इस ठोस कचरा प्रबंधन प्लांट तक भी पहुंचाएंगे। इसके अलावा रात को भी सफाई करनी होगी। सफाई के लिहाज से ट्विन सिटी को तीन जोन में बांटा गया है। ये काम करने होंगे एजेंसी को

क्षेत्र की सफाई के साथ-साथ डोर टू डोर कचरे का उठान, कचरे की छंटनी, कचरे को ठोस कचरा प्रबंधन प्लांट तक पहुंचाना, रात को सफाई, नालों की सफाई, कीटाणुनाशक छिड़काव, दिन में दो बार शौचालयों की सफाई शामिल है। पर्यावरण संरक्षण को लेकर एनजीटी सख्त है। इसलिए इस बार नियमों को और भी कड़ा किया गया है। नगर निगम की प्लानिग

जोन नंबर एक में वार्ड नंबर-2, 6, 7, 8, 9 व 10 है। इस जोन में सभी शहरी कॉलोनियां हैं। जोन दो में वार्ड नंबर, 13, 14, 15 16, 17 व 20 शामिल हैं। इसी प्रकार जोन तीन में वार्ड नंबर 1, 3, 4, 5, 11, 12, 18, 19, 21 व 22 शामिल हैं। जोन नंबर तीन में अधिकांश कॉलोनियां शहर से बाहर की हैं। इनमें वे गांव हैं जो नगर निगम में शामिल हुए थे। जोन नंबर तीन में झाड़ू मारना, नालियों की सफाई, पोस्टर हटाने व पेड़ों की कटाई-छंटाई काम निगम के कर्मचारी करेंगे जबकि डोर टू डोर कचरे का उठान, उसकी छंटनी व उसको डंपिग स्थल पर पहुंचाने का काम एजेंसी को दिया जाएगा। पहले यह थी व्यवस्था

पहले वार्ड नंबर-13, 14 व 15 में सफाई का काम एजेंसी को सौंपा हुआ था जबकि अन्य वार्डों में नगर निगम के कर्मचारी यह काम कर रहे थे। व्यवस्था को और भी बेहतर बनाने के लिए नगर निगम ने नया फार्मूला अपनाया। इसके तहत तीन जोन बांटे गए। एनजीटी के आदेशानुसार नियमों को कड़ा कर दिया गया, लेकिन एजेंसियों ने इसमें दिलचस्पी नहीं दिखाई। उसके बाद अब दोबारा टेंडर लगाए गए हैं। अभी शहर में ये हाल

इन दिनों शहर में सफाई व्यवस्था पूरी तरह बिगड़ी हुई है। डोर-टू-डोर कचरे का उठान नहीं हो पा रहा है। शहर में भी जगह-जगह कचरे के ढेर लगे हुए हैं। यहां तक कि पॉश एरिया मॉडल टाउन में भी हालात खराब हैं। जन प्रतिनिधि कई बार आवाज उठा चुके हैं, लेकिन व्यवस्था में सुधार नहीं है। वार्ड नंबर-15 से पार्षद प्रिस शर्मा व वार्ड नंबर-8 से पार्षद विनोद मरवाह ने बताया कि कचरे का नियमित रूप से उठान न होने से परेशानी आ रही है। बारिश का सीजन शुरू हो गया है। सफाई की ओर विशेष रूप से ध्यान दिया जाए। शहर में सफाई का नया प्लान बनाया है। एजेंसियों को टेंडर दिए जाने की प्रक्रिया चल रही है। जब तक नए टेंडर नहीं होते, तब तक पुरानी एजेंसी का टेंडर भी बढ़ा दिया गया है। सफाई व्यवस्था पर विशेष रूप से ध्यान दिया जा रहा है। यदि किसी क्षेत्र में दिक्कत आ रही है तो उसको जल्दी दूर करवा दिया जाएगा।

-अनिल कुमार नैन, मुख्य सफाई निरीक्षक।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस