संवाद सहयोगी, छछरौली (यमुनानगर): नशे की आदत बहुत ही हानिकारक होती है क्योंकि नशा करना नाश की जड़ होता है । नशा करने वाले हमेशा आर्थिक तंगी से गुजारा कर के अपने परिवार की आर्थिक स्थिति को खत्म कर देते हैं। ये शब्द अंतरराष्ट्रीय नशा मुक्ति दिवस पर इंटरनेशनल अवार्ड से सम्मानित शिक्षा रत्न जय कुमार सिंह रोहिला कहे।

उन्होंने लोगों को नशे के दुष्प्रभाव के बारे में बताया कि किस प्रकार नशा समाज को खत्म कर रहा है। जैसे शराब पीकर वाहन चलाना, दुर्घटनाग्रस्त हो जाना, घर परिवार व लोगों के साथ लड़ाई झगड़ा करना, परिवार टूट जाना, बच्चे अनपढ़ रहना आदि नशे के दुष्परिणाम निकलते हैं ।रोहिला ने बताया कि नशा एक सामाजिक बुराई है। जिले में भी नशे की प्रवृत्ति को जड़ से समाप्त करने के लिए एसपी मोहित हांडा की देखरेख में नशा मुक्ति अभियान बड़े जोर शोर से चल रहा है। जिसके परिणाम स्वरूप बहुत से नशे के धंधे में लिप्त लोगों ने इस धंधे को छोड़कर मुख्यधारा में वापिस लौट कर आए हैं । यह अभियान सुशील आर्य के मार्गदर्शन व विभिन्न संस्थाओं के सहयोग से इस नशा मुक्ति अभियान में सफलता हासिल की है । ग्राम पंचायत देवधर तथा वह स्वयं भी ग्राम पंचायत देवधर की ओर से नशा मुक्ति अभियान समिति का सदस्य हैं । जो कि लगातार लोगों को जागरूक कर रहे हैं। जिला प्रशासन की ओर से सुशील आर्य को अभियान का जिला कोआर्डिनेटर बनाया गया है। जो नशे को समाज से मिटाने को लेकर प्रयासरत है। विद्यार्थियों ने ट्रेड फेयर का किया भ्रमण

जागरण संवाददाता, यमुनानगर : एक सोच नई सोच संस्था की ओर से आयोजित भारत निर्माण शिविर में विद्यार्थियों को सेक्टर 18 में चल रहे ट्रेड फेयर का भ्रमण करवाया गया। संस्था के संस्थापक शशी गुप्ता ने बताया कि भ्रमण करवाने का उद्देश्य ज्ञानवर्धन करने के साथ मनोरंजन कराना था। इससे विद्यार्थियों में मिलजुल कर एक दूसरे को सहयोग करने की भावना विकसित होती है और संगठन में काम करने की क्षमता विकसित होती है। विद्यार्थियों ने मेले में लगे स्टाल पर घूमते हुए दैनिक दिनचर्या में इस्तेमाल होने वाले सामान के बारे में जानकारी ली। स्टेज शो के माध्यम से डांस प्रतिभा को दिखाया और झूले झूल कर मौज मस्ती भी की। मौके पर सीनियर डिप्टी मेयर प्रवीण शर्मा, मोहन, प्रिस, सिमरन, श्रुति, आशु, शिवानी, जसप्रीत, स्नेहप्रीत उपस्थित थे।

Edited By: Jagran