जागरण संवाददाता, यमुनानगर : साबापुर गांव के रणधीर कांबोज ने सीएम ¨वडो पर शिकायत देकर पंचायत द्वारा बनाए गए नाले की पानी निकासी का प्रबंध करवाने की मांग की है। साथ ही उन्होंने ग्राम पंचायत पर जोहड़ को मिट्टी से भरने का भी आरोप लगाया है। इसके लिए उन्होंने पंचायत अधिकारियों पर मिलीभगत के आरोप लगाए हैं।

रणधीर कांबोज ने सीएम ¨वडो पर दी शिकायत में बताया कि ग्राम पंचायत साबापुर नें गांव के गंदे पानी की निकासी के लिए जो नाला बनाया है वह अधूरा छोड़ दिया गया है। इससे पानी की निकासी नहीं हो रही। नाले को ऐसी जगह बना कर छोड़ दिया गया है कि इसका पानी आगे जाने के बजाए खेतों में गिर रहा है। वह छोटा किसान है। उसने अपने खेत में धान की फसल लगाई हुई है जो अब पकने को तैयार है। परंतु नाले से गिर रहे पानी के कारण उसकी फसल बर्बाद होने के कगार पर है। यदि गंदे पानी की निकासी खेत से नहीं रोकी गई तो उसकी फसल खराब हो जाएगी। इस बारे में उसने पंचायत को भी शिकायत दी है परंतु किसी ने कोई सुनवाई नहीं की। उन्होंने पंचायत विभाग के उच्च अधिकारियों पर आरोप लगाया कि वे पंचायत के विकास कार्यों की समीक्षा नहीं करते। अपने दफ्तर में बैठे-बैठे ही सभी कार्यों को पास कर देते हैं। इस गांव की समस्या का किसी भी अधिकारियों ने कोई हल नहीं किया क्योंकि सभी अधिकारी आपस में मिले हुए हैं। यदि अफसर मौके पर आकर देखते हैं तो नाले को वे ऐसे बैठे-बैठे पास नहीं करते। उन्होंने मांग की है कि पानी की निकासी का प्रबंध किया जाए। यदि उसकी फसल खराब होती है तो इसकी जिम्मेदारी ग्राम पंचायत होगी। उन्होंने ग्राम पंचायत पर आरोप लगाते हुए कहा कि गांव में से निकलने वाला गंदा पानी पहले जोहड़ में जाता था परंतु पंचायत ने मिट्टी डलवा कर इसे बंद कर दिया। जिस कारण सारा पानी खेतों में गिर रहा है।

Posted By: Jagran