जागरण संवाददाता, यमुनानगर :

ट्रैफिक के नए नियमों के प्रति वाहन चालकों को एडीजीपी आलोक रॉय ने जागरूक किया। दुपहिया वाहन चालकों को जगाधरी बस स्टैंड के पास रोककर हेलमेट दिए गए। साथ ही उन्हें नियमों का पालन करने का संदेश दिया। यहां से हेलमेट पहने पुलिसकर्मी बाइक पर डीएवी ग‌र्ल्स कॉलेज तक पहुंचे। यहां कार्यक्रम में छात्राओं ने नुक्कड़ नाटिका पेश कर रोड सेफ्टी नियमों का पालन करने की अलख जगाई।

जब रिश्वतखोरी पर कसा तंज, लोटपोट हो गए सब

नुक्कड़ नाटिका के जरिए छात्राओं ने बिना हेलमेट व शराब पीकर वाहन चलाने वालों के सड़क हादसे दिखाए। नाटिका के दौरान पुलिस के वाहन चालकों को रोकने का भी दृश्य था। दिखाया जाता है कि तेज गति से आ रहे वाहनों की भिडं़त होने पर मारपीट होने लगती है। बीच में पुलिसकर्मी आता है तो उसे पैसे देने का लालच देते हैं। इस पर पुलिसकर्मी बनी छात्रा कहती है कि अब 200 का जमाना गया। 20 हजार निकालो और चुपचाप उसकी जेब में पैसे डाल देती है। यह देख एडीजीपी समेत सभी पुलिसकर्मी व छात्राएं हंसकर लोटपोट हो जाते हैं। संबोधन के दौरान भी एडीजीपी इसका जिक्र करते हैं।

187 मौतें हो चुकी हैं सड़क हादसों में : रोड सेफ्टी कमेटी के मेंबर सुशील कुमार आर्य ने कहा कि यमुनानगर में 187 मौतें अब तक सड़क हादसों में हो चुकी है। यह सभी नियमों का पालन न करने की वजह से होते हैं। रोड सेफ्टी एसोसिएशन मृदुल सोत्री कहते हैं कि 50 प्रतिशत सड़क हादसे ट्रक व ट्रॉली की वजह से होते हैं। ये इसलिए हैं कि अधिकतर दुपहिया वाहन चालक हेलमेट नहीं लगाते। कार चालक सीट बैल्ट नहीं पहनते। गलियों में बच्चे चलाते हैं वाहन :

इस दौरान मंच संचालन कर रही वंदना व एक अन्य महिला ने गलियों व सेक्टरों में छोटे बच्चों के वाहन चलाने व ऑटो की समस्या रखी। इस पर डीएसपी बिलासपुर आशीष चौधरी ने कहा कि इसके लिए ही कॉलेजों में जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। जो लोग यहां पर ट्रैफिक नियमों को जानेंगे, वह अपने घरों पर भी इन्हें लागू करेंगे। सभी की जागरूकता से ही ट्रैफिक नियमों का पालन होगा। बिना हेलमेट के आने वाली छात्राओं पर 100 रुपये जुर्माना : प्रिसिपल डॉ. विभा गुप्ता ने कहा कि बिना हेलमेट के आने वाली छात्राओं पर 100 रुपये फाइन की व्यवस्था की गई है। इसका असर यह हुआ कि अब सभी छात्राएं हेलमेट लेकर आने लगी है। इसको एडीजीपी व अन्य अफसरों ने काफी सराहा।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप