संवाद सहयोगी, बिलासपुर : कपालमोचन मेला 8 से 12 नवंबर तक लगेगा। मेला प्रशासक एवं एसडीएम गिरीश कुमार ने सोमवार को मेले की तैयारी के संबंध मे प्रशासनिक अधिकारियों के साथ मीटिग की। उसमें उन्होंने कहा कि कपालमोचन में तीनों सरोवरों की साफ सफाई का जिम्मा बीडीपीओ का होगा। एक बीडीपीओ की ड्यूटी एक सरोवर पर होगी। यदि वहां पर गंदगी मिली तो बीडीपीओ की जवाब देही होगी। एसडीएम ने लोगों से अपील की है कि यदि मेले के आयोजन को लेकर वे कोई सुझाव देना चाहते हैं तो उनके कार्यालय में दे सकते हैं।

समापन के अगले दिन तक करनी होगी ड्यूटी

एसडीएम ने कहा कि मेले का समापन 12 नवंबर को होगा, इसलिए मेला में ड्यूटी पर तैनात सभी अधिकारी और कर्मचारी 13 नवंबर तक तैनात रहेंगे। यदि कोई अपनी ड्यूटी से गैर हाजिर पाया गया, तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। सभी अधिकारी पांच नवंबर तक मेले की सभी तैयारी पूरी कर लें। अधिकारी बाहर से आने वाले यात्रियों और श्रद्धालुओं से अच्छा व्यवहार करें। मेला में आने वाले सभी यात्रियों का बीमा किया जाएगा। मेला क्षेत्र में पर्याप्त मात्रा में महिला और पुरुषों के लिए अलग-अलग अस्थायी शौचालय, बिजली व लाइटों की उचित व्यवस्था, स्वास्थ्य व्यवस्था, सही ढंग से सड़कें व नालियां तथा भोजन की जांच व्यवस्था का प्रबंध करें।

मेले में लगाई जाएगी प्रदर्शनी

कपालमोचन मेले में विभिन्न विभागों की प्रदर्शनी लगाई जाएगी। गिरीश कुमार ने लोक निर्माण विभाग (भवन एवं मार्ग) नारायणगढ़ और मार्केट कमेटी के अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे कपालमोचन व आदिबद्री की ओर जाने वाली सड़कों के निर्माण व मरम्मत का कार्य सही ढंग से होना चाहिए। मेले में यात्रियों की सुरक्षा एवं कानून व्यवस्था के लिए उचित पुलिस प्रबंध किए जाएं। बिजली सप्लाई में बाधा न आए, इसलिए जनरेटरों का प्रबंध होन चाहिए। मौके पर बीडीपीओ बिलासपुर एवं मेला अधिकारी नरेंद्र सिंह, कपाल मोचन श्राईन बोर्ड के गैर सरकारी सदस्य डॉ. अंकेश्वर प्रकाश, सुभाष गौड़, लक्ष्य आदि उपस्थित रहे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप