जागरण संवाददाता, यमुनानगर :

सिविल सर्जन डॉ. विजय दहिया ने बताया कि सिविल अस्पताल जगाधरी को भारत सरकार के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने 93.7 प्रतिशत अंकों के साथ गुणवत्ता प्रमाणपत्र दिया है। फरवरी माह में केंद्रीय स्वास्थ्य विभाग की टीम ने अस्पताल का निरीक्षण किया था। उनके निरीक्षण में अस्पताल में सभी प्रकार की सुविधाएं मिली थी। इसके आधार पर ही यह प्रमाण पत्र दिया गया है। प्रदेश में तीन स्वास्थ्य संस्थानों को यह प्रमाण पत्र मिला है। इनमें सिविल अस्पताल जगाधरी के अलावा फरीदाबाद के आरसीएच अस्पताल व करनाल के सिविल अस्पताल को चुना गया है।

केंद्र सरकार तथा राज्य सरकार की ओर से समय-समय पर सभी जिलों मे सरकारी स्वास्थ्य संस्थानों में दी जा रही सुविधाओं की गुणवत्ता की जांच कराई जाती है। सरकार नागरिकों के हितों में बनाई गई सभी योजनाओं की जांच करती है। इसके आधार पर ही सूचीबद्ध मूल्यांकन किया जाता है। सिविल अस्पताल जगाधरी को 100 में से 93.7 प्रतिशत अंक मूल्यांकन में मिले हैं। सिविल अस्पताल जगाधरी की चिकित्सा अधीक्षक डॉ. पूनम चौधरी ने कहा कि 27 से 29 फरवरी 2020 तक राष्ट्रीय गुणवत्ता टीम ने अस्पताल के सभी विभागों की गहनता से जांच की थी। यह प्रमाणपत्र मिलना बेहद सम्मान की बात है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस