जागरण संवाददाता, यमुनानगर :

न तो मंधार निवासी गुरविद्र के हत्यारों का पता लगा और न ही रेलवे कर्मी के हत्यारों का। पुलिस की टीमों ने दोनों वारदातों का खुलासा करने के लिए खाक छानी। संदिग्धों से भी पूछताछ की, लेकिन कोई ठोस सुराग नहीं मिल सका। अब इन दोनों ही वारदातों की जांच सीआइए वन को दी गई है।

गत 30 जून की शाम करीब साढ़े आठ बजे गुरविद्र की गांव में ही गोलियां से भूनकर हत्या कर दी गई थी। बाइक पर आए बदमाशों ने उसे पांच गोलियां मारी। जब वह नीचे गिर गया, तो एक बदमाश ने सिर से सटाकर गोली मारी थी। वारदात को अंजाम देने के बाद बदमाश वहां से भेड़थल गांव की ओर भाग निकले थे। इस मामले में मृतक के साले मंधार निवासी जसविद्र की शिकायत पर हत्या का केस दर्ज किया गया है। गुरविद्र ने गांव की ही लड़की से शादी कर रखी थी। वह अंसल टाउन में अलग रहता था। 23 जून को हुई थी महिला कर्मी की हत्या

गत 23 जून रेलवे कालोनी की 55 वर्षीय महिला रेलवे कर्मी का नग्न अवस्था में क्वार्टर में शव मिला था। उसके सिर पर वार कर हत्या की गई थी। शरीर पर कई अन्य जगहों पर भी चोट के निशान थे। मृतका क्वार्टर में अकेले ही रहती थी। उसके पति की काफी पहले मौत हो गई थी। वारदात के दौरान घर का सामान भी बिखरा पड़ा था। जिससे लूट की भी आशंका जताई जा रही है।

Posted By: Jagran

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस