जागरण संवाददाता, यमुनानगर : पश्चिमी यमुना नहर में अवैध खनन करने वालों पर शिकंजा कसते हुए सिचाई विभाग की टीम ने चार रेहड़ियों और एक पिकअप को मौके पर पकड़ा है। शुक्रवार को एक्सईएन हरिदेव कांबोज अचानक दड़वा के पास यमुना घाट पर पहुंचे। इस दौरान यहां कुछ लोग रेहड़ियों के माध्यम रेत निकाल रहे थे। मौके पर थाना सदर यमुनानगर पुलिस को बुलाया गया। पुलिस ने वाहनों को जब्त कर कार्रवाई शुरू कर दी है। दरअसल, सिचाई विभाग, नगर निगम और जनस्वास्थ्य विभाग की टीम नहर में गिर रहे नालों का निरीक्षण कर रही थी। इस दौरान अधिकारियों की नजर अवैध रूप से खनन कर रहे लोगों पर पड़ी। इनसेट

ऐसे चलता धंधा

पश्चिमी यमुना नहर में दड़वा घाट के आसपास बुग्गियों और रेहड़ियों से रेत निकाला जा रहा है। यह सिलसिला काफी समय से चल रहा है। बुग्गियों के जरिए रेत बाहर निकालकर स्टॉक कर लिया जाता है। उसके बाद डिमांड के आधार पर सप्लाई होता है। रेत निकालने वालों ने मौके पर बताया कि एक बुग्गी रेत की कीमत 300 से 500 रुपये मिल जाती हैं। जिस एरिया से डिमांड आती है, उधर, रेत भेज दिया जाता है। पहले भी पकड़े जा चुके हैं लोग

नहर से रेत निकालते हुए पहले भी कई बार पकड़े जा चुके हैं। बावजूद इसके चोरी से रेत निकालने का यह खेल चल रहा है। रेत निकालने वाले अपनी जान भी जोखिम में डालते हैं और पशु की भी। नहर के अंदर तक जाकर रेत निकाला जाता है। ऐसी स्थिति में अप्रिय घटना होने की संभावना से भी इन्कार नहीं किया जा सकता। एक्सइएन हरिदेव कांबोज ने बताया कि नहर से अवैध रूप से रेत निकालने वालों को पुलिस के हवाले कर दिया गया है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप