संवाद सहयोगी, बिलासपुर : खेड़ा व्यास मंदिर समिति की ओर से श्रीमद्भागवत ज्ञान कथा यज्ञ से पूर्व कलशयात्रा का आयोजन किया गया। कलशयात्रा श्री काली माता मंदिर से शुरू होकर मुख्य बाजार से होते हुए विभिन्न गलियों से होते हुए खेड़ा मंदिर प्रांगण में कथा स्थल पर संपन्न हुई। अशोक गर्ग और उनकी पत्नी सिर पर श्रीमद्भागवत कथा पुराण उठाए आगे-आगे चल रहे थे। पीतांबर वस्त्र धारण किए गए महिला पुरुष मुख्य आकर्षण का केंद्र बनी रही।

कथा वाचक हरिशरण दास श्री धाम वृंदावन वासी ने कहा कि श्रीराम के नाम स्मरण करने से सब पाप दूर हो जाते है। हमें अपने मन के अंदर हमेशा राम का नाम जपना चाहिए। कथा के पहले तुलसीदास रचित रामचरित मानस के बारे कहा कि राम चरित मानस आज के युग में अमृत समान है। कलयुग में केवल राम नाम ही कल्याण का आधार है। राम नाम का जाप जाने अनजाने में किए गए पापों से मुक्ति प्रदान करता है। सात अक्तूबर को मंदिर के प्रांगण में भंडारे का आयोजन किया जाएगा। कलश यात्रा में अनिल कक्कड, शिव कुमार धमीजा,प्रवीन सिगला,राजीव मंगला, गोपाल धीमान, राजी, राजीव सिगला, रविन्द्र गोयल, रवि भूषण आदि मौजूद रहे।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस