जागरण संवाददाता, यमुनानगर : हरियाणा वीर एवं शहीदी दिवस के उपलक्ष में जिला स्तरीय समरोह का आयोजन किया गया। मुख्यातिथि डीसी मुकुल कुमार ने वीर शहीदों को श्रद्धासुमन अर्पित किए।

उन्होंने कहा कि राव तुला राम का जन्मदिवस प्रतिवर्ष वीर एवं शहीदी दिवस के रूप में मनाया जाता है। साथ ही इस दिन उन जाने-अनजाने शहीदों को भी नमन किया जाता है, जिन्होंने राष्ट्र की सुरक्षा के लिये अपने प्राण न्यौछावर कर दिये थे। हमें अपने उन वीर शहीदों और स्वतंत्रता सेनानियों को सदैव याद रखना चाहिए जिनकी बदौलत आज हम आजादी की खुली हवा में सांस ले रहे हैं। वैज्ञानिक तरक्की के साथ साथ हमारी संस्कृति का भी वर्तमान समय में हृास हो रहा है। हम सबको चाहिए कि हम अपनी संस्कृति का ह्रास न होने दें। बच्चों को शिक्षा के साथ साथ देशभक्ति, नैतिकता और शहीदों के जीवन दर्शन का ज्ञान भी देना चाहिए। उन्होंने कहा कि 1857 की क्रांति से लेकर देश की आजादी तथा वर्तमान समय तक पड़ोसी देशों के साथ लड़े गए युद्धों और आतंकवादी घटनाओं को रोकने में हरियाणा विशेषकर अंबाला के वीर सैनिकों के बलिदान भी उल्लेखनीय रहे हैं। कार्यक्रम में पुलिस अधीक्षक कुलदीप सिंह यादव, अतिरिक्त उपायुक्त केके भादू, एसडीएम पूजा चांवरिया, नगराधीश सोनू राम आदि अधिकारी उपस्थित थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस