जागरण संवाददाता, सोनीपत :

मामूली विवाद में न्यायाधीश के गनमैन ने शराब के नशे में पत्नी को गोली मार दी। घायल महिला को नागरिक अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां से गंभीर हालत के चलते उसे पीजीआइ, रोहतक रेफर कर दिया गया। सीने में गोली लगने से घायल महिला की हालत गंभीर बनी हुई है। पुलिस ने महिला के बयान पर गनमैन के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। आरोपित गनमैन हेड कांस्टेबल है और फिलहाल सरकारी पिस्टल लेकर फरार हो गया है। पुलिस की टीम उसकी गिरफ्तारी का प्रयास कर रही है।

लघु सचिवालय के पास डीसी क्वाटर्स में परिवार के साथ रह रही मोनिका ने पुलिस को बताया कि उनका पति देवेंद्र हरियाणा पुलिस में हेड कांस्टेबल है। आजकल वह गोहाना में तैनात एक न्यायाधीश का गनमैन है। उनकी शादी को 16 साल हो गए हैं और दो बेटे हैं। पति देवेंद्र को शराब पीने की आदत है, जिससे वह ज्यादातर वेतन शराब पर खर्च कर देता है। मंगलवार रात को वह शराब के नशे में घर पहुंचा था। उसने पढ़ाई करने को लेकर बड़े बेटे रचित को पीटना शुरू कर दिया। उन्होंने पिटाई का विरोध किया तो देवेंद्र ने बेटे को घर से निकालकर भगा दिया। उसके बाद अपनी सरकारी पिस्टल से उन्हें गोली मार दी। गोली उसके सीने के आरपार होकर पीछे अलमारी में जा लगी। मोनिका ने बताया कि उनका भाई भी चंडीगढ़ से आ रहा था। वह उसी समय घर पर पहुंचा था और लहूलुहान हालत में उन्हें लेकर नागरिक अस्पताल पहुंचा। उन्होंने पुलिस कंट्रोल रूम को भी घटना की जानकारी दी। नागरिक अस्पताल से प्राथमिक उपचार के बाद उन्हें पीजीआइ रेफर कर दिया गया।

फायर होने से मचा हड़कंप :

सरकारी आवासों में फायर होने से सनसनी फैल गई। कर्मचारी व उनके परिवार के सदस्य घरों से बाहर निकल आए। तब उनको पुलिसकर्मी के पत्नी को गोली मारने की जानकारी मिली। पुलिस के पहुंचने तक आरोपित गनमैन सरकारी रिवाल्वर सहित मौके से भाग गया। पुलिस ने एफएसएल की टीम को बुलाकर जरूरी नमूने एकत्रित किए। पुलिस ने गोली व उसके खोल को मौके से बरामद किया है।

-----------------------

घायल मोनिका की हालत अभी स्थिर है। उसके बयान के आधार पर आरोपित हेड कांस्टेबल के खिलाफ जानलेवा हमले का अभियोग दर्ज कर लिया गया है। पुलिस टीम उसकी गिरफ्तारी का प्रयास कर रही है। उसे सस्पेंड कर दिया गया है।

- वीरेंद्र सिंह, डीएसपी, सिटी

Edited By: Jagran